नयी दिल्ली, 31 मार्च :: दिल्ली उच्च न्यायालय ने आज स्वराज इंडिया की उस अपील पर सुनवायी करने के लिए कल की तारीख तय की है जिसमें उसने नगर निगम चुनावों में अपने उम्मीदवारों को एक जैसा चिह्न आवंटित करने की उसकी याचिका को खारिज करने के एकल पीठ के आदेश को चुनौती दी है। अदालत के समक्ष यह मामला दो बार आया लेकिन वकीलों की हड़ताल के कारण दिल्ली प्रदेश चुनाव आयोग की ओर से वकील के पेश ना होने और अदालत के कोई भी एकतरफा फैसला देने से इनकार करने की वजह से इस पर सुनवायी नहीं हो सकी। स्वराज इंडिया की ओर से पेश हुये वरिष्ठ वकील शांति भूषण ने अदालत से हस्तक्षेप करने का अनुरोध करते हुये कहा कि चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तारीख तीन अप्रैल है और इस मामले पर तत्काल सुनवायी होनी चाहिये। न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति चंदर शेखर की पीठ ने कहा कि वह इस तरह के मामले में कोई भी एकतरफा फैसला नहीं दे सकती और पीठ ने साथ ही पूछा कि संगठन ने इतनी देरी से इस मामले को क्यो उठाया। इसके बाद पीठ ने इस मामले पर सुनवायी के लिए कल की तारीख तय की। स्वराज इंडिया ने अपनी अपील में कहा कि उसने दिल्ली प्रदेश चुनाव आयोग और एकल पीठ से आग्रह किया था कि वह पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त दलों को एक जैसा चिह्न आवंटित करें ताकि चुनाव में सभी को समान मौके मिले। एकल पीठ ने 29 मार्च को पार्टी की याचिका खारिज करते हुये कहा था कि पहले उस मुकाम तक पहुंचे और अपनी योग्यता साबित करें।

Earth Hour 2022: रात 8.30 बजे से दुनियाभर में

नईदिल्ली,एजेंसियां।ऊर्जासंरक्षणपरजागरूकताबढ़ानेकेलिएशनिवारकोविश्वस्तरपरअर्थआवरमनायाजारहाहै।हरसालमार्चकेआखिरीशनिवारकोदुनि

Continue Reading

डीएसपी पर लगाए महिला से मारपीट करने व जाति सू

संवादसहयोगी,तपा,बरनाला:शिअदनेडीएसपीतपापरमहिलासेमारपीटकरनेवजातिसूचकशब्दबोलनेकेगंभीरआरोपलगाएहैं।20अप्रैलकोतपाकेनगरकौंसिलके

Continue Reading