47 साल के सफर में खुशहाल होता गया सोनीपत

जांच

जागरणसंवाददाता,सोनीपत:रोहतकसेअलगहोकरसोनीपत22दिसंबर,1972कोजिलाबनाथा।दिल्लीसेसटासोनीपतइससेपहलेरोहतकजिलेकीतहसीलहोताथा।जिलाबननेकेबादसेसोनीपतमेंविकासकीऐसीबयारबहीकिएककेबादएकयूनिवर्सिटीबनतीचलीगईं।पहलेजहांसोनीपतकेलोगजालंधरमेंपढ़नेजातेथे,अबकईराज्योंकेयुवायहांशिक्षाग्रहणकरनेआतेहैं।सड़कोंकाजालबिछायागयाऔरशहरकीपहचानबनगएसेक्टरोंकीस्थापनाहुई।मशरूममेंदेशकाअग्रणीजिलाबनातोदुनियामेंनामकरनेवालेकईपहलवानदिए।खिलाड़ियोंकेअभ्यासकेलिएभारतीयखेलप्राधिकरण(साइ)काउत्तरक्षेत्रीयकेंद्रभीजिलेकेलिएशानहै।जिलाबननेसेपहलेसोनीपतकासमुचितविकासनहींहोपायाथा।सोनीपतमेंशिक्षाकाएकमात्रस्थान1914मेंबनाहिदूकालेजथा।ज्यादातरलोगजालंधरशिक्षाग्रहणकरनेजातेथे।लगातारमांगकेचलते22दिसंबर,1972मेंसोनीपतकोजिलाबनायागया।उसकेबादविकासकीराहपरलगातारबढ़तागया।यहांपरछहप्रख्यातयूनिवर्सिटीबनगईहैं।इनमेंदीनबंधुछोटूरामविज्ञानएवंप्रौद्योगिकीविश्वविद्यालय,बीपीएसमहिलाविवि,डा.बीआरआंबेडकरनेशनललॉयूनिवर्सिटीप्रसिद्धहैं।शहरमेंसेक्टरबनाएगएऔरजिलेमेंसड़कोंकाजालबिछायागया।शिक्षाकेसाथहीखेलऔरखेतीमेंजिलेकापरचमऊंचाहुआ।बजरंगपुनिया,अनिलखत्री,योगेश्वरदत्तजैसेपहलवानयहांसेनिकलेतोमेघनामलिकऔरसंजयपाराशरजैसेकलाकारफिल्मइंडस्ट्रीमेंछागए।जिलाबननेकेबादअपनेहिस्सेकेविकासकीधनराशिमिलनेकेबादयहांपरसड़कोंकाजालबिछायागया।राई,मुरथल,कुंडलीऔरबड़ीजैसेऔद्योगिकक्षेत्रोंकीस्थापनाहुई।छोटाहोनेकेबावजूदसोनीपतकीअपनीपहचानहै।इसकेबावजूदएटलस,मिल्टनऔरबीएसटीजैसेउद्योगबंदहोनेकाअफसोसभीहै।

-डॉ.आरएसमलिक,सेवानिवृत्तप्रोफेसरसीआरएडिग्रीकॉलेज।जिलाबननेकेबादसोनीपतनेप्रत्येकक्षेत्रमेंविकासकिया।यहांपरस्वास्थ्यसेवाओंकेलिएअस्पतालबनेंतोशिक्षाकेलिएकईविश्वविद्यालयोंकीस्थापनाहुई।रक्तदानऔरनेत्रदानमेंजिलेकीराष्ट्रीयस्तरपरखासपहचानहै।

-सुभाषवशिष्ठ,सेवानिवृत्तसचिव,रेडक्रॉस।सोनीपतनेबिजली,पानी,सड़क,परिवहनऔरस्वास्थ्यमेंबड़ीतेजीसेविकासकियाहै।अपनीराजनीतिकपहचानबनाईहै।जिलानिरंतरआगेबढ़रहाहै।अबजिलाबनेलगभगआधीसदीहोनेकोहैं।इसमेंयहांकीपूरीतस्वीरहीबदलगईहै।

-हरिश्चंद्रस्नेही,सेवानिवृत्तअध्यापकऔरसमाजसेवी।अलगजिलाबननेकेबादहमारेहिस्सेकाविकासबजटमिलाऔरतेजीसेविकासहुआ।सोनीपतनेदेशमेंअपनीप्रमुखपहचानबनाईहै,नईपीढ़ीइसकोकायमरखेगी।

-लाजपतराय,पूर्वशुगरमिलअधिकारी।