अंबाला में बढ़ती गई आबादी लेकिन घटते गए पुलिसकर्मी

जांच

जागरणसंवाददाता,अंबाला:रेंजसेपुलिसकमिशनरीऔरफिरअंबालारेंजकीश्रेणीमेंशामिलतोहोगया,लेकिनअंबालामेंहीपुलिसकर्मचारियोंकाटोटाहै।अंबालाछावनीऔरशहरट्विनसिटीकीबातकरें,तोयहांपर2850लोगोंकीसुरक्षामेंमहजएकपुलिसकर्मचारीतैनातहै।यहभीतबजबपुलिसकर्मचारीकोअन्यड्यूटीपरकिसीदूसरेजिलेनभेजदियाअन्यथायहआंकड़ाभीशून्यहै।यहीकारणहैकिछावनीऔरशहरमेंआबादीबढ़तीजारहीहैऔरपुलिसकर्मचारियोंकीसंख्याघटतीजारहीहै।

क्राइमकेबढ़तेग्राफपरभीकर्मचारियोंकीसंख्याकमहोनेकासीधाअसरपड़रहाहै।ट्विनसिटीकीकरीबसाढ़ेछहलाखकीआबादीहै,जबकियहांपरनौथानोंऔरबीसचौकियोंमेंमहज228कर्मचारियोंकाहीस्टाफहै।इनकर्मियोंकीशिफ्टमेंड्यूटीलगरहीहै।स्टाफकीकमीकेकारणहीपुलिसभीअबलोगोंपरहीनिर्भरहोतीजारहीहैऔरअपराधोंकोसुलझानेकेलिएसिर्फतकनीकपरहीनिर्भरहै।यहतकनीकचाहेसाइबरसैलहोयाफिरसीसीटीवीकैमरा,जबकिपहलेवारदातहोनेकेबादपुलिसअपनेनेटवर्ककेमाध्यमसेहीमामलेकोसुलझालेतीथी।अबआलमयहहैकिबेलगामट्रैफिकव्यवस्थाकेलिएभीस्टाफकीकमीहैऔरहोमगार्डकोइसड्यूटीपरतैनातकरनामजबूरीबनाहुआहै।

-------------वीआइपीड्यूटीऔरतफ्तीशमेंउलझतीहैपुलिस

थानोंचौकियोंमेंपहलेसेहीस्टाफकीकमीहै।इसबीचयदिकोईवीवीआइपीयावीआइपीड्यूटीआजाएतोपुलिसकर्मीअपनीजांचवतफ्तीशकोछोड़करइसमेंजुटनापड़ताहै।इसीतरहकिसीकेसकीतफ्तीशकेदौरानभीपुलिसकर्मचारियोंवअफसरोंकोजिलासेबाहरजानापड़ताहै,जिससेपुलिसकाकार्यप्रभावितहोताहै।

-------------इसतरहसेहैथानोंवचौकियोंमेंस्टाफ

-अंबालासिटीथानाकेतहतछहचौकियांआतीहैं,जिनमें49कास्टाफहै।

-बलदेवनगरथानाकेतहतचारचौकियांहैं,जिसकेतहतकुल40कास्टाफहै

-अंबालासदरमेंएकभीचौकीनहींहै,जिसमें18कास्टाफहै

-नग्गलथानाक्षेत्रकेतहतएकचौकीहै,जिसमें25कास्टाफहै

-सेक्टरनौकथानाकेतहतएकचौकीहै,जिसमें20कास्टाफहै

-अंबालाकैंटसदरथानाकेतहतचारचौकियांहैं,जिनमें41कास्टाफहै

-महेशनगरथानाक्षेत्रकेतहतएकचौकीहै,जिसमें29कास्टाफहै

-पंजोखराथानाक्षेत्रकेतहतएकचौकीहै,जिसमें20कास्टाफहै

-पड़ावथानाक्षेत्रकेतहत2चौकियांहैं,जिसमें26कास्टाफतैनातहै

-------------इसतरहजनतापरपड़रहाअसर

आंकड़ोंपरनजरडालेंतोपुलिसकर्मचारियोंकीकमसंख्याकेचलतेचोरी/छीनाझपटीकेवारदातबढ़रहीहैं।साल2019व2020मेंसैंकड़ोंमामलेदर्जहुएहैं।अंबालामेंसाल2019चोरीकेविभिन्नमामलोंमें1444केसदर्जकिएगए,जबकि2020में446केसदर्जहुए।इसकेअलावासाल2021केजनवरीऔरफरवरीकेआंकड़ेबतारहेहैंचोरीवछीनाझपटीके137मामलेदर्जहुए,जबकिमार्चकेपहलेदसदिनोंमेंचोरीवछीनाझपटीके33मामलेसामनेआचुकेहैं।