चरस, गांजा, अफीम के बाद अब इस खतरनाक नशे की गिरफ्त में हल्द्वानी, पुलिस के लिये बढी मुसीबत

जांच

उत्तराखंडकेयुवाओंकोनशातबाहकररहाहै.राज्यकेलगभगसभीजिलोंसेनशेकीखेपबरामदहोनेकीखबरेंसुर्खियांबनीरहतीहैं.हल्द्वानीशहर(HaldwaniDrugs)कीबातकरेंतोयहांचरस,स्मैककेबादअबनशीलेइंजेक्शनसेयुवाओंकीजिंदगीमेंजहरघोलाजारहाहै.हालकेदिनोंमेंनशेकेइंजेक्शनपकड़ेजानेकीखबरेंएकओरअभिभावकोंकोसुकूनदेरहीहैं,तोनशेकेबदलतेरूपकोदेखडराभीरहीहैं.दरअसलनशेकेसौदागरोंकेनिशानेपरस्कूल-कॉलेजमेंपढ़नेवालेमासूमहीहोतेहैं,जोइनकाआसानशिकारहोतेहैं.

नैनीतालपुलिस(NainitalPolice)नेएकहफ्तेमें1500सेज्यादानशेकेइंजेक्शनबरामदकिएहैं.पुलिसनेदोदिनपहलेजिनदोतस्करोंकोपकड़ाथा,उनकेकब्जेसे1125नशेकेइंजेक्शनबरामदकिए.

नैनीतालपुलिसजिलेकोनशामुक्तकरनेकेलिएलगातारअभियानचलारहीहै,जिसमेंपुलिसकोसफलताभीमिलरहीहै.

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|