दिल्ली में वाई-फाई यूजर का नाम ज्वाइन हिजबुल मुजाहिदीन, पुलिस का छूटा पसीना

जांच

नईदिल्ली।देशकीराजधानीमेंएकवाई-फाईसिग्नलकेनामकीवजहसेलोगोंमेंअफरा-तफरीमचगईहै।दरअसलरविवारकीरातदिल्लीमेंएकवाईफाईकानामज्वाइनहिजबुलमुजाहिदीनफ्लैशकररहाथा,जिसकेबादएकयूजर्सनेजबइसेअपनेफोनपरदेखातोउन्होंनेइसकीजानकारीपुलिसकोफोनकरकेदी।हालांकिपुलिसइसबातकीजानकारीनहींलगापाईकियहवाई-फाईयूजरकौनहै।जबपीसीआरकोफोनकरकेइसकीजानकारीदीगईतोस्थानीयपुलिसमौकेपरपहुंचीलेकिनवहइसवाई-फाईयूजरकापतानहींकरसकी।

जबस्थानीयपुलिसइसकीजानकारीनहींलगासकीतोस्थानीयसाइबरक्राइमकोइसकीजिम्मेदारीदी,साथहीअन्यसंबंधितसुरक्षातंत्रकोइसकीजानकारीदीगई।मामलेकीजांचकररहेअधिकारीनेबतायाकिउन्होंनेपहलेइसवाई-फाईनेटवर्ककोपकड़नेकेलिएएकरेडियसकानिर्माणकियाऔरउसकेबादइसआधारपरमैपतैयारकिया।इसकेबादइनतमामपतोंकीएकलिस्टतैयारकीगई,जिसकेबादपुलिसनेअगलेदिनइसवाईफाईयूजरकानामपताकरनेकीकोशिशशुरूकी।

इनसबकेबीचपुलिसनेस्थानीयइंटरनेटप्रोवाइडरकोभीसंपर्ककिया,जिससेकियहपतालगायाजासकेकिकिसनेइसवाईफाईकानामयहरखाहै।काफीमशक्कतकेबादइसबातकीजानकारीमिलीकीयहवाईफाईनेटवर्क60वर्षीयगुलशनतिवारीनेबनायाथा,उन्होंनेअनीदुकानमें26नवंबरकोइंटरनेटलगवायाथा।हालांकिउनकाकहनाहैकिइसनेटवर्ककानामयहकैसेहोगयाउसकीउन्हेंजानकारीनहींहै।लेकिनबादमेंतिवारीकेछोटेबेटेनेबतायाकिउसनेहीइसनेटवर्ककानामहिजबुलमुजाहिदीनरखाथा।उसनेबतायाकिपहलेयूजरनेमउसकेभाईकेनामपरथा।वहइसबातसेआजिजआचुकाथाकिलोगउसकेनेटवर्कसेजुड़जातेहैं,लिहाजाउसनेऐसानामरखाकिलोगइसेकनेक्टनाकरें।डीसीपीएंटोअल्फोंसनेकहाकिहमेकिसीभीतरहकीसंदिग्धगतिविधिनहींमिलीहै,हमनेयूजरनेमबदलनेकोकहाहै।

इसेभीपढ़ें-हरकतोंसेबाजनहींआरहापाकिस्तान,लगातारकररहासीजफायरकाउल्लंघन