एक जून कम खाब, लेकिन परदेश कमाय न जाब

जांच

श्रावस्ती:खेतीकिसानीकाकामपूराहोचुकाहै।खरीफकीबोआईकेलिएतपिशबीतनेऔरबरसातशुरूहोनेकाइंतजारहै।किसानोंकेपासपर्याप्तखालीसमयहैऔरप्रवासीश्रमिकोंकेगांवलौटआनेसेचहल-पहलभीबढ़गई।दोपहरकेवक्तमेंगांवोंकेआसपासबगीचोंमेंलगनेवालीचौपालभीपहलेसेअधिकगुलजारहोगई।

इकौनाब्लॉकक्षेत्रमेंबौद्धपरिपथकेकिनारेस्थितखरगौराबस्तीगांवमेंगुरुवारकोपेड़कीछांवमेंबैठेलोगचर्चामेंमशगूलथे।दीपकनेअपनेपड़ोसीउमानाथसेपरदेशसेलौटेलोगोंकोरास्तेमेंहोरहीदिक्कतोंकेबारेमेंपूछातोऐसालगाजैसेकिसीनेजख्मकोकुरेददिया।यात्राकेदौरानहुआदर्दचेहरेपरउभरआया।उमानाथबोलेहालनपूछौभैया।एकजूनकमखाब,लेकिनपरदेशकमायनजाब।मुंबईमाकमरामापरे-परेजबजिउअकतायगवातौपैदलैघरेचलेन।रस्ताभरपुलिससेबचबचायकैऐसेनिकलेहनजैसेपकिस्तानबार्डरपारकरितहोई।इसीबीचपहुंचेबुचनूनेखुदकोचर्चामेशामिलकरतेहुएकहाबेटवाईसमयभावनामाबहयकैनाहींहै।बाहरसेआवयवालेलोगसावधानीनबरतिकैगांवौमाबीमारीफैलाएदेतहैं।परदेशजेआवैवहकाजांचकरवायकै21दिनघरमाअलगैरहैकचाही।बातकासमर्थनकरतेहुएचितारामबोलेपरदेशसेआवतहैंऔगांवमेंटहरतहैं।ईबिल्कुलसहीनायहै।चर्चाकारुखमोड़तेहुएरामजियावननेकहाकिपरदेससेलौटयवालेतुरतयशहरतौजायनपइहैं,सबलड़किनकेलौटिआवैसेघरकैखर्चाबढ़गिाहैऔकमाईशून्यहोइगाहै।इंटरमीडिएटकाछात्रअरविदबोलादादाकलअखबारमेंपढ़ेहैंकिसरकाररोजी-रोजगारकेलिएबैंकसेकर्जाआसानीसेदैरहीहै।ओंकारबोले,गांवैमांकुछकामशुरूहोईजायतौयहसेबढि़याकाहै।सैयदबोलेचलौपरधानसेकहाजायकिकुछजुगाड़करैं।गावंयमारोजीलागऔलड़केनजरकेसामनेरहयं।अबदेश-परदेशकैचक्करकाटिबठीकनायहै।