एफपीओ भी खरीद सकेंगे धान, किसानों को मिलेगा समाधान

जांच

जागरणसंवाददाता,बलिया:कृषकउत्पादकसंगठन(एफपीओ)वकंपनियां(एफपीसी)भीअबधानखरीदसकेंगी।प्रदेशसरकारनेइसकेलिएमंजूरीदेदीहै।मूल्यसमर्थनयोजनाकेतहतकिसानोंकोलाभपहुंचानेकीकवायदमेंखरीफविपणनवर्ष2021-22मेंयहव्यवस्थालागूकीगईहै।इसकेलिएएफपीओकासोसायटीएक्टकेतहतवएफपीसीकारजिस्ट्रारआफकंपनीजमेंपंजीकरणहोनाआवश्यकहै।मंडीसमिति,कृषिविभागवखाद्यविभागसेसंबद्धहोकरलघुवसीमांतकिसानोंसेधानखरीदकीजासकेगी।इसकोलेकरखाद्यएवंरसदविभागनेधानक्रयनीतिमेंसंशोधनकाशासनादेशजारीकरदियाहै।

----------------जनपदमेंधानकीखेतीकारकबावउत्पादन

खरीफफसलोंमेंप्रमुखरूपसेधानकीखेतीकीजातीहै।इसवर्षजनपदमेंधानकीखेतीकारकबा1,17,556हेक्टेयरहै।3,08,127मीट्रिकटनउत्पादनकालक्ष्यहै।पिछलेवर्ष1,16,409हेक्टेयररकबेमें2,97,309मीट्रिकटनउत्पादनहुआथा।

--------------नियमवशर्तें--

धानखरीदकरनेवालेएफपीओ/एफपीसीकीआर्थिकस्थितिवसाखठीकहोनीचाहिए।किसानोंकेभुगतानकेलिएइनकेबैंकखातोंमें50लाखरुपयेकीपूंजीहोनीचाहिए।जिलाखाद्यविपणनअधिकारीकोइसकीजानकारीदेनीहोगी।संस्थाओंकेअध्यक्ष,निदेशक,सचिववसदस्यपहलेडिफाल्टरनरहेहोंयाउनकेखिलाफएफआइआरनदर्जहुईहो।

जिलेमें20एफपीओगठितहैं।हरब्लाकमेंनयेसिरेसेगठनकियाजानाहै।इसकेलिएचारब्लाकोंकाचयनभीकरलियागयाहै।इनकेजरिएधानकीखरीदसेकिसानोंकोसहूलियतमिलेगी।

---विकेशपटेल,जिलाकृषिअधिकारी,बलिया