हरियाणा में बिजली कट से लोगों की मुसीबत, 1.62 करोड़ यूनिट बिजली की कमी, कुछ राहत की उम्‍मीद

जांच

राज्यब्यूरो,चंडीगढ़।PowerCrisisInHaryana:हरियाणामेंबिजलीसंकटगंभीरहोगयाहै।लगातारबिजलीकटकेकारणलोगोंकीमुसीबतहोगईहै।राज्‍यमेंअभीमांगकेअनुरूप1.61करोड़यूनिटबिजलीकीकमीहै।वैसे,अबबिजलीसंकटसेजल्‍दहीथोड़ीराहतमिलनेकीउम्‍मीदहै।प्रदेशमेंअबदूसरेराज्‍योंकीकंपनियोंसे500मेगावाटबिजलीखरीदीजाएगी।

एचईआरसीनेदीमध्यप्रदेशऔरछत्तीसगढ़कीकंपनियोंसे500मेगावाटबिजलीखरीदनेकीमंजूरी

हरियाणामेंबिजलीसंकटसेजूझरहेउपभोक्ताओंकोथोड़ीराहतमिलनेकीउम्मीदजगीहै।प्रदेशसरकारनेबिजलीनियामकआयोग(एचईआरसी)सेदूसरेप्रदेशोंकीकंपनियोंसे500मेगावाटबिजलीखरीदनेकीअनुमतिमांगीथी।इसपरआयोगनेमुहरलगादीहै।

एचईआरसीकीमंजूरीकेबादअबप्रदेशसरकारमध्यप्रदेशकीएमबीपावरसे150औरछत्तीसगढ़कीआरकेएमपावरप्राइवेटलिमिटेडसे350मेगावाटबिजलीखरीदसकेगी।एमबीपावरको5.70रुपयेऔरआरकेएमको5.75रुपयेप्रतियूनिटकाभुगतानहोगा।

प्रदेशमेंभीषणगर्मीकेचलतेफिलहाल18करोड़46लाखयूनिटबिजलीकीमांगहैऔरइसेपूराकरनाबिजलीनिगमोंकेलिएचुनौतीबनगयाहै।नकेवलग्रामीणक्षेत्रों,बल्किशहरोंमेंभीआठसेलेकरदसघंटोंकेबिजलीकेकटलगरहेहैं।पिछलेतीनदिनोंमेंहीबिजलीकीमांग1.75करोड़यूनिटतकबढ़ीहै।24अप्रैलकोबिजलीकेकीकमी1.05करोड़यूनिटतकथीजोअबबढ़कर1.62करोड़होगर्हहै।

एमबीपावरसे150औरआरकेएमपावरप्राइवेटलिमिटेडसे350मेगावाटबिजलीखरीदनेकाहैसमझौता

ऐसेमेंएचईआरसीद्वारासरकारकोबिजलीखरीदनेकीछूटसेफौरीराहतमिलनेकीउम्मीदजगीहै।हालांकिइसमेंपेंचयहकिप्रदेशसरकारनेएमबीपावरऔरआरकेएमपावरप्राइवेटलिमिटेडसेनियमितबिजलीखरीदकासमझौताकररखाहै,जबकिआयोगकीओरसेहरसालअप्रैलसेअक्टूबरकेबीचकेपांचमहीनोंमें500मेगावाटबिजलीखरीदकीअनुमतिमिलीहै।

ऐसेमेंअबसरकारइनकंपनियोंकोचिट्ठीलिखरहीहैकिक्यावेइसीअवधिकेलिएबिजलीदेसकतीहैं।एचईआरसीनेसरकारकोनिर्देशदिएहैंकितुरंतउपभोक्ताओंकोइसकीसप्लाईसुनिश्चितकीजाए।

गौरतलबहैकिवर्तमानमेंखेदड़पावरप्लांटकीएकयूनिटतकनीकीखराबीकीवजहसेबंदपड़ीहै।पानीपतकेतीनसेअधिकयूनिटपहलेसेबंदकीजाचुकीहैं।अडानीपावरकेसाथपूर्ववर्तीहुड्डासरकारमें1450मेगावाटसेअधिकबिजलीकेलिए25सालोंकासमझौताहुआथा,लेकिनइंडोनेशियाकाकोयलाइस्तेमालहोनेकेचलतेअडानीपावरनेदरोंमेंबढ़ोतरीकीमांगकरदी।इससेभीबिजलीसंकटबढ़ा।

तत्कालसप्लाईसुनिश्चितकरनेकेनिर्देश

एचईआरसीकेचेयरमैनआरकेपचनंदावसदस्यनरेशसरदानानेसरकारकोराहतदेतेहुएतल्खटिप्पणियांभीकीं।आयोगनेकहाकिबिजलीखरीदसेसंबंधितयोजनाहमेंएडवांसमेंबताएं।खरीदसेपहलेनोटिसजारीहोताहैऔरफिरसुनवाईहोतीहै।हमखरीदकीमंजूरीदेरहेहैं,लेकिनबिजलीकंपनियांउपभोक्ताओंकोतत्कालसप्लाईसुनिश्चितकरें।तीनवर्षोंकेलिएपहलीअप्रैलसेअक्टूबरतककीअवधिकेलिएहीबिजलीखरीदकीजासकेगी।आयोगयहमंजूरीइसलिएदेरहाहैताकिउपभोक्ताओंपरकिसीतरहकाबोझनपड़े।

पीकसीजनमें15हजारमेगावाटतकपहुंचेगीमांग

हरियाणामेंकरीबतीनहजारमेगावाटबिजलीकीकिल्लतहै।प्रदेशमेंपिछलेसालगर्मियोंमेंअधिकतममांग12हजार125मेगावाटप्रतिदिनथीजोइसवर्षपीकसमयमेंलगभग15हजारमेगावाटरहनेकाअनुमानहै।इसअंतरकोपाटनेकेलिएबिजलीनिगमोंनेप्रयासशुरूकरदिएहैं।

बिजलीमंत्रीरणजीतसिंहचौटालाकादावाहैकिअगलेसप्ताहतक1500मेगावाटअतिरिक्तबिजलीमिलनीशुरूहोजाएगी।वर्तमानमेंपानीपतमें250-250मेगावाटकीतीनइकाइयां,खेदड़में600-600मेगावाटकीदोइकाइयांतथायमुनानगरमें300-300मेगावाटकीदोइकाइयांसंचालितहैं।अदानीपावरसे1400मेगावाटबिजलीलीजारहीहै।

अदानीसे1000मेगावाट,छत्तीसगढ़से350मेगावाटवमध्यप्रदेशसे150मेगावाटअतिरिक्तबिजलीलीजाएगी।तकनीकीकारणोंकेचलतेखेदड़थर्मलप्लांटकीएकइकाईबंदकीगईहै।इसकारुटरबदलाजानाहैजिसेचीनसेलायाजानाहै।चीनमेंलाकडाउनकेचलतेइसेलानेमेंदेरीहुई।अबयहकभीभीपहुंचसकताहै।एकसप्ताहमेंइसेबदलनेकाकार्यपूराकरलियाजाएगा।