Jharkhand: रात्रि पाठशालाओं में संवर रहा गरीब आदिवासी बच्चों का भविष्य, जानिए डिटेल

जांच

रांची.अबतकआपनेसरकारीयानिजीस्कूलकेबारेमेंसुनाऔरदेखाहोगा.झारखंडमेंभीहजारोंकीसंख्यामेंसरकारीऔरनिजीस्कूलइसवक्तबच्चोंकेबीचशिक्षाकाअलखजगारहेहैं.आजबातऐसेस्कूलकीकरेंगे,जोसामाजिकसहयोगसेसंचालितस्कूलकीश्रेणीमेंशामिलहैं.आपकोजानकरयेहैरानीहोगीकिऐसेस्कूलोंकीसंख्या26केआंकड़ेकोछूचुकीहै.येतमामस्कूलरात्रिपाठशालाकेनामसेसंचालितहोरहेहैं.

कहतेहैज्ञानबांटनेसेबढ़ताहै.राजधानीरांचीसे35किमीदूरउचरीगांवमेंज्ञानबांटनेकीएकऐसीहीपाठशालाचलरहीहैऔरवोभीरात्रिपाठशाला.रात्रिपाठशालामेंआपकोअनुशासन,लगनऔरसमर्पणकाबेजोड़संगमदेखनेकोमिलेगा.कलतकजोबच्चेशामढलनेकेबादयातोसोजायाकरतेथेयाघरकेकाममेंअपनेमाता-पिताकाहाथबंटातेथे,आजवोबल्बकीरोशनीमेंअपनाभविष्यसंवारनेमेंजुटेहैं.बगैरबेंच-डेस्ककेठंडमेंजमीनपरबैठकरतालीमपानेवालेकेबच्चेंगरीब-दलितऔरआदिवासीपरिवारसेआतेहैं.

एकछोटासाप्रयासऔर26रात्रिपाठशाला

मांडरविधानसभाक्षेत्रकाउचरीगांवविकासकीदौड़मेंबहुतज्यादाआगेनहींबढ़पायाहै.गांवमेंरात्रिपाठशालाकीशुरुआतराज्यकेपूर्वIPSअधिकारीअरुणउरांवकेएकछोटेप्रयाससेशुरूहोपाई.गांवकेइसबालसंसदभवनमेंरोजानाशाम6बजेसेरात8बजेतकरात्रिपाठशालालगतीहै.अबतकइसपाठशालामेंहाजरीलगानेवालेछात्रोंकीसंख्या170सेज्यादाहोचुकीहै.पाठशालायहीतकसीमितनहींहैबल्किरांची-गुमलाऔरलोहरदगाजिलेमेंअबतक26रात्रिपाठशालारोजानाचलरहीहैं.दोहजारकेकरीबरात्रिपाठशालामेंज्ञानबांटनेवालेशिक्षकगांवकेहीपढ़े-लिखेनौजवानहैंजोनातोकोईतनख्वाहलेतेहैंऔरनाहीकभीकोईछुट्टी.

क्याकहतेहैंगांवकेलोग

उचरीगांवकेलोगबाबाकार्तिकउरांवकेनामसेसंचालितइसरात्रिपाठशालामेंअपनेबच्चोंकाउज्ज्वलभविष्यदेखरहेहैंरात्रिपाठशालाबच्चोंकोशिक्षितकरनेकेसाथ-साथउन्हेंउनकीसंस्कृतिकेसाथजुड़ेरहनेकाभीपाठपढ़ारहीहै.बच्चोंकेअभिभावकखुशहैंकिउनकेबच्चेबगैरसरकारीमददकेस्पेशलक्लासअटेंडकररहेहैं.रात्रिपाठशालामेंकंप्यूटरशिक्षाकीभीव्यवस्थाकीगईहै.

झारखंडकेलियेआदर्शबनारात्रिपाठशाला

गांवकीयेरात्रिपाठशालाझारखंडकेलियेआदर्शपाठशालासेकमनहीं.खासकरतबजबसामाजिकसहयोगसेऐसीपाठशालाकासंचालनहोरहाहोक्योंकिजबसरकारकीसोचऔरविभागकीपहुंचएकसीमापरआकरठहरजातीहै,तबसामाजिकपहलहीबदलावकीनईदिशातयकरसकताहै.

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:Jharkhandnews