किसान बोले, प्रधानमंत्री का फैसला सराहनीय

जांच

जागरणसंवाददाता,संतकबीरनगर:प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीद्वारातीनोंनएकृषिकानूनोंकोवापसलेनेकीघोषणासेकिसानोंमेंखुशीकीलहरहै।किसानोंनेएक-दूसरेकोमिठाईखिलाकरप्रधानमंत्रीकेइसफैसलेकास्वागतकिया।जनपदकेकिसानोंनेकहाकितीनोंकानूनोंकोवापसलेनेकाप्रधानमंत्रीकाफैसलासराहनीयहै।यहकिसानोंकेहितमेंहै।

प्रधानमंत्रीकाफैसलाप्रशंसनीयहै।अबअन्यमांगोंपरभीकेंद्रसरकारठोसपहलकरे।इससेकिसानोंमेंखुशीहै।यहकिसानोंकीजीतहै।

जिलाध्यक्ष-भारतीयकिसानयूनियन

प्रधानमंत्रीकानिर्णयसराहनीयहै।यहकिसानोंकेहितमेंअच्छीपहलहै।इसकीजितनीप्रशंसाकीजाए,उतनीकमहै।इससेकिसानोंमेंखुशीकीलहरहै।यहकृषिप्रधानदेशहै।किसीपरजबर्दस्तीकानूनथोपनाअच्छीबातनहीं।

सुरेंद्रराय-प्रगतिशीलकिसान

---तीनोंनएकृषिकानूनोंकोवापसलेनेकाफैसलास्वागतयोग्यहै।इसकेलिएविभिन्नप्रांतोंकेकिसानपिछलेएकसालसेआंदोलनकररहेथे।इसआंदोलनकीवजहसेकईकिसानोंकीमौतभीहोगई।बहरहालदेरसेहीसहीलेकिनसरकारनेकिसानोंकेहितमेंसहीफैसलालियाहै।

रामतीरथचौधरी-किसान

यहकृषिप्रधानदेशहै।देशकेविकासमेंकृषिकामहत्वपूर्णयोगदानहै।इसलिएलोकतांत्रिकव्यवस्थावालेइसदेशमेंकिसानोंकेहितोंकीअनदेखीनहींकीजासकती।देशकेलिएअनाजपैदाकरनेवालेकिसानोंकेहितपरध्यानदेनाचाहिए।सरकारनेतीननयेकृषिकानूनकोवापसलेनेकीघोषणाकरकेकिसानोंकोराहतदीहै।

बृजेशसिंहसैंथवार-किसान