किसान व आलू पर फिर सियासी घमासान

जांच

जेएनएन,खड़गपुर:पश्चिममेदिनीपुरजिलाअंतर्गतराजनीतिकहलकोंमेंपुलवामाप्रकरणसेउपजेभावनाओंकेज्वारकेबीचशुक्रवारकोआलूवकिसानएकबारफिरसियासतकेकेंद्रमेंआगए।चुनावीमौसमकाअहसासकरतेहुएअलग-अलगराजनैतिकसंगठनोंनेशुक्रवारकोकिसानोंकेमुद्देपरपरजमकरविरोधप्रदर्शनकिया।

माकपासमर्थितअखिलभारतीयकृषकसमितिकेबैनरतलेशुक्रवारकोमाकपानेताओंनेचंद्रकोणारोडमेंराष्ट्रीयराजमार्गसंख्या60परआलूफेंककरविरोधप्रदर्शनशुरूकिया।प्रदर्शनकानेतृत्वमेघनाथभुइयांआदिनेकिया।नेताओंनेकहाकिमूलरूपसेयहजिलाधानऔरआलूउत्पादकहै।ज्यादातरकिसानोंकीआजीविकाइसीपरनिर्भरहै,लेकिनसरकारीनीतियोंकेचलतेकिसानोंकीमालीहालतखराबहै,क्योंकिउन्हेंउपजकाउचितमूल्यनहींमिलरहाहै।कईमामलोंमेंतोउन्हेंनुकसानभीझेलनापड़ताहै।इसपरिस्थितिसेबचानेकेलिएअविलंबसरकारकोअपनीनीतियांबदलनीहोगी।आलूकासमर्थनमूल्यबढ़ानाहोगा।अन्यथाकिसानोंकीहालतदिनोंदिनबदसेबदतरहोतीचलीजाएगी।मांगेनमानेजानेपरबड़ेआंदोलनकीचेतावनीकेसाथप्रदर्शनकारीराजमार्गसेहटे।दूसरीओरइसीमुद्देपरराजनैतिकदलएसयूसीआइकेकिसानसंगठनआलूकिसानसंग्रामसमितिकेबैनरतलेसंगठनकेकार्यकर्ताओंनेजिलामुख्यालयमेदिनीपुरस्थितकलेक्ट्रेटकेसमक्षप्रदर्शनकिया।प्रदर्शनकानेतृत्वप्रभंजनजाना,प्रदीपमल्लिक,असितसरकारआदिनेकिया।वक्ताओंनेकहाकि50डिसीमलजमीनपरआलूकीपैदावारमें20हजाररुपयेकाखर्चआताहै।यहीआलूजबकिसानढाईरुपयेकिलोकीदरसेबेचतेहैंतोउन्हेंलागतकीकरीबआधीराशिकानुकसानझेलनापड़ताहै।किसानोंकोइसपरिस्थितिसेनिकालनेकेलिएसरकारकोआलूपरसमर्थनमूल्यबढ़ानाहोगा।वहींकिसानोंकेपुरानेऋणमाफकरउन्हेंनएकर्जदेनेकीव्यवस्थाभीकरनीहोगी।अन्यथाबड़ेस्तरपरआंदोलनहोगा।