किसानों की ऐतिहासिक जीत एकजुटता की जीत : डीपी सिंह

जांच

बुलंदशहर,जागरणटीम।औरंगाबादक्षेत्रकेगांवशेखपुरगढ़वामेंआयोजितकिसानोंकीपंचायतमेंकामरेडडीपीसिंहनेकहाकिकृषिकानूनों,न्यूनतमसमर्थनमूल्य,बिजलीविधेयक,परालीजलानेआदिमुद्दोंपरकिसानोंकीऐतिहासिकजीतकिसानोंकीव्यापकएकजुटताकीजीतहैं।किसानोंकीइसजीतकीहिफाजतकेलिएअपनेसंगठनकोऔरभीमजबूतकरनाहोगा।

रविवारकोगांवशेखपुरगढ़वामेंआयोजितकिसानोंकीपंचायतमेंडीपीसिंहनेकहाकिसानआंदोलननेजहांदेशकीकृषिकानूनोंकोबचायाहैवहींदेशमेलोकतंत्र,वभाईचारेकीभीहिफाजतकीहै।इसआंदोलननेव्यक्तिवादीराजनीतिकेमुकाबलेमुद्दोंकीराजनीतिकोपैदाकियाहै।किसानोंकोसचेतकरतेहुएजातिधर्मकेनामपरबांटनेवालीताकतोंकोफिरसेसत्तामेंलौटनेसेरोकनाहोगा।अगरयेताकतेफिरसेसत्तामेंआजातीहैंतोवेफिरसेकिसानविरोधीकानूनथोपनेकीकोशिशकरेंगी।पंचायतमेंदर्जनोंगांवोंकेकिसानमौजूदरहे।पंचायतकीअध्यक्षताचंद्रप्रतापसिंहनेवसंचालनअनूपसिंहनेकिया।पंचायतमेंप्रमोदकुमार,मूलचंदशर्मा,रामपालसिंह,कोषाध्यक्षशिवदत्तशर्मा,कलुवाखां,सुरेशसिंह,रामसिंह,सतीश,बचनसिंहआदिनेभीविचारव्यक्तकिये।

बैठकमेंमांगोंपरहुआमंथन

छतारी।मांगोंकोलेकरभारतीयकिसानयूनियनमहाशक्तिकेपदाधिकारियोंनेबैठकआयोजितकीऔरक्षेत्रीयसमस्याओंकेसमाधानकोलेकररणनीतिबनाई।रविवारकोक्षेत्रकेगांवनारूऊमेंभारतीयकिसानयूनियनमहाशक्तिकीबैठकहुई।जिसमेंसंगठनकेराष्ट्रीयअध्यक्षठाकुरधर्मेंद्रसिंहनेअपनेविचाररखेऔरकहाकिसरकारदुधारूपशुओंकीआकस्मिकमौतहोनेपरउन्हेंपचासहजाररुपयेकामुआवजादियाजाए।साथहीप्रत्येकवर्षदुधारूपशुकेलिएपांचहजाररुपयेपशुपालककोदियाजाए।साथहीउन्होंनेबैठकमेंओवरलोडगन्नेसेलदेट्रक,ट्रालीपररोकलगाने,जर्जरतारोंकोबदलवानेआदिसमेतअन्यमांगोंकोलेकरचर्चाकी।साथहीउनकेसमाधानकीरणनीतिबनाई।इसमेंसाजिदखान,वारिसखान,फकीराखान,प्रेमकुमार,अनवरखान,जब्बारखान,सुनीलसिंहआदिरहे।