लिक में फंसी योजनाएं, ग्रामीण परेशान

जांच

खूंटी:जिलामुख्यालयसेलगभग10किलोमीटरदूरफुदीगांव।यहांकरीब160परिवाररहतेहैं।खेतीकेअलावाग्रामीणोंकामुख्यपेशाशहरमेंजाकरदैनिकमजदूरीकरनाहै।गांवएनएचकेकिनारेहीहै।अंदरजानेकेलिएसड़कनिर्माणाधीनहै।बिजलीभीगली-गलीपहुंचचुकीहै।गांवमेंघुसतेहीमेरीमुलाकातराजूमहतोसेहोतीहै।वहगाड़ीमेंसामानलोडएवंअनलोडकरनेकाकामकरताहै।राजूनेबतायाकियहांकईलोगोंकोउज्ज्वलायोजनासेगैसकनेक्शनमिलाहै,लेकिनगैसखत्महोनेकेबादकोईरीफिलकेलिएशहरनहींजाता।लकड़ीएवंगोइठासेहीखानाबनताहै।

सुमतिदेवीअपनेघरमेंखानाबनारहीहैं।अनजानव्यक्तिकीआवाजसुनबाहरआजातीहैं।कहतीहै,सरकारतोठीकहीकामकररहीहै।लेकिनकोईकामपड़नेपरनीचेवालेकर्मचारीपरेशानकरदेतेहैं।ईकार्डलाओ,ऊकार्डलाओऔरअंतमेंकहदेतेहैं-ऐसेकामनहींहोगा।कोईसुनताहीनहींहै।वहबतातीहैकिउसकेपासलालकार्डबनाहै।आयुष्मानकार्डसिर्फउसकाहीबनाहै।पतिकीऊंगलियांस्कैननहींलेसकीं,इसलिएउनकानामनहींआया।दोबच्चेहैं,तोलालकार्डमेंउनकेनामहीनहींहैं,इसलिएआयुष्मानकार्डनहींबनसकाहै।

गांवमेंशौचालयकालाभज्यादातरलोगोंकोमिलाहै।महेंद्रमहतोचाकपरमिट्टीकाबर्तनबनारहेहैं।कहतेहैं,इसपेशेसेघर-परिवारबमुश्किलचलपाताहै।प्रधानमंत्रीआवासकेलिएआवेदनदियाहूं।कोईबतातानहींकिकबआवासमिलेगा।

पेड़केनीचेबैठकरघर-परिवारकीचर्चाकररहीथींमहिलाएं

एकपेड़केनीचेचार-पांचमहिलाएंबैठीहैं।घरपरिवारकीचर्चाचलरहीहै।एकमहिलाथोड़ीपढ़ीलिखीहै।सरकारीकार्यप्रणालीसेखासीनाराज।कहतीहै,चुनावऔरभोट-भाटकीबातहमलोगोंसेनहींकीजिए।यहांतोहरकामलिकसेहोताहै।आदमीकाकोईवैल्यूहीनहींहै।नेतासबकोकहिएकिलिकसेहीसंपर्ककरले।गांवमेंआनेकीक्याजरूरतहै?दरअसलनीलमदेवीकालालकार्डआधारसेलिकनहींहै।तीनमाहसेराशननहींमिलरहाहै।डीलरएवंअधिकारियोंकेपासदौड़लगाकरथकगईहै।कोईसुननेवालानहीं।गांवमेंबिजलीगली-गलीपहुंचगईहै।पेयजलएवंसोलरलाइटकीभीव्यवस्थाहै।दोपहरमेंगांवमेंज्यादातरमहिलाएंएवंबच्चेहीघरपरथे।सरितादेवीकहतीहै,आदमीसबकमानेएवंमछलीपकड़नेचलागयाहै।सरहुलकीतैयारीचलरहीहै।

धर्मपरचर्चाकररहेथेबच्चे

इमलीपेड़केनीचेचारपांचबच्चेबैठेहैं।धर्मपरचर्चाछिड़ीहै।दरअसलइसगांवमेंधर्मांतरणतेजीसेहुआहै।विनोदलोहरारांचीमेंरहकरपढ़ाईकरताहै।सिमडेगाकारहनेवालाहै।यहांरिश्तेदारीमेंआयाहुआहै।विनोदकहताहै,धर्मांतरणसेसरनाधर्मवालोंकीपरेशानीकाफीबढ़गईहै।वहतीनमाहसेब्लॉककाचक्करलगारहाहै,लेकिनउसकाआयएवंजातिप्रमाणपत्रनहींबनसकाहै।वेरीफिकेशनकीबातकहबारबारलौटादियाजाताहै।छात्रवृत्तिसमेतहरयोजनाकालाभलेनेकेलिएजातिएवंआयप्रमाणपत्रकीजरूरतपड़तीहै।वहकहताहैकिसरकारकामअच्छाकररहीहै।कामकोआसानबनानेकेलिएकईप्रक्रियाअपनाईगईहै,लेकिनकर्मचारीएवंअधिकारियोंनेइसेआसानकीबजायजटिलकरदियाहै।इससेभोले-भालेलोगोंकीपरेशानीबढ़गईहै।