मानसून सीजन में अधिकारियों की लापरवाही पड़ सकती है भारी, नहीं बदले गए लोहे के पोल

जांच

जागरणसंवाददाता,यमुनानगर:

मानसूनसीजनमेंदीवारोंसेसटेबिजलीकेपोलवलाइनोंसेघरोंमेंकरंटदौड़नेकाखतरारहताहै।कईबारहादसेभीहोचुकेहैं।ऐसीजगहोंसेलोहेकेपोलोंकोहटानेकीप्रक्रियाशुरूकीजानीथी।उनकेस्थानपरसीमेंटकेखंभेलगाएजानेहैं,लेकिनअधिकारीइसओरसेलापरवाहीबरतरहेहैं।जिसवजहसेमानसूनसीजनसेपहलेयहकार्यपूराहोनामुश्किलहैं।खुदविधायकघनश्यामदासअरोड़ाभीइससंबंधमेंबिजलीनिगमकेअधिकारियोंकोदिशानिर्देशदेचुकेहैं।

शहरमेंलोहेकेपोलबदलेजानेहैं।जिसकेलिएजगाधरीशहरकासर्वेभीहोचुकाहै,लेकिनअभीतकपोललगानेकाकार्यशुरूनहींहुआ।इसकेसाथहीयहपोलऐसेस्थानोंपरभीलगनेथे।जहांपरपुरानेखंभेलोगोंकेघरोंकीदीवारोंसेसटेहुएहैं।उनकीतारेंभीछतोंसेछूकरगुजररहीहै।जिससेअक्सरहादसेहोतेरहतेहैं।वर्षाकेदौरानयहखतराऔरभीबढ़जाताहै।दीवारोंकेसहारेकरंटदौड़नेलगताहै।लोहेकेपोलमेंरहताहैअधिकखतरा:

लोहेकेपोलमेंकरंटआनेकासबसेअधिकखतरारहताहै।जगाधरीशहरमेंकरीब500लोहेकेपोलहैं।जिन्हेंबदलाजानाहै,लेकिनइसदिशामेंअभीतककोईकार्यनहींहुआ।इसकेअलावाऔद्योगिकक्षेत्रमेंभीकाफीलोहेकेपोलहैं।जिन्हेंभीबदलनेकीजरूरतहै।बरसातकेसाथ-साथआमदिनोंमेंइनमेंकरंटदौड़नेकाखतरारहताहै।कईबारतारेंढ़ीलीपड़जातीहैं।जिससेभीतारपोलसेटचहोजाताहै।घरोंसेसटेहुएहैंबिजलीकेपोल:

विधायकघनश्यामदासअरोड़ाकाकहनाहैकिकाफीजगहोंपरबिजलीकेपोलघरोंसेसटेहुएहैं।छतोंकेपाससेतारेंगुजररहीहैं।जिससेहादसाहोनेकाखतरारहताहै।बिजलीनिगमकेअधिकारियोंकोइसबारेमेंकहागयाहै।वहमानसूनसीजनसेपहलेइसकीव्यवस्थाकरें।