मंदिर में चढ़ने वाले फूलों से बनेगी अगरबत्ती

जांच

राजनपुंडीर,नाहन

जिलासिरमौरप्रशासनपर्यावरणसंरक्षणकेलिएविजनडाक्यूमेंट2020केतहतकार्यशुरूकरेगा।इसकेतहतमंदिरोंमेंचढ़नेवालेफूलोंसेअगरबत्तीऔरधूपबनाएगाजाएगा।साथहीदीपावलीकेलिएगोबरकेदीपकऔरगमलेबनानेकानिर्णयभीलियाहै।इसकेलिएजिलाप्रशासननेहिमालयजैवसंपदाप्रौद्योगिकीसंस्थान(सीएसआइआर)पालमपुरकेसाथकरारभीकरलियाहै।

जिलामुख्यालयनाहनकेसमीपमाबालासुंदरीगोशालामेंगोबरकेदीपकवगोबरकेगमलेबनानेकाकार्यशुरूकियाजारहाहै।इसकेसाथहीपांचलाखरुपयेसेहर्बलअगरबत्तीकेलिएउद्योगकेलिएभीसमझौताकियाजाएगा।अबखुशबूबिखेरेंगेपटाखे

पर्यावरणसंरक्षणकेतहतजिलासिरमौरमेंदीपावलीवशादीसमारोहमेंआतिशबाजीसेअबप्रदूषणनहींहोगा।पटाखेआपप्रदूषणनहीं,बल्किखुशबूबिखेरेंगे।इसकेलिएजिलाप्रशासननेनाहनकेएकपटाखानिर्मातासेसमझौतेकरारकीप्रक्रियाशुरूकरदीहै।जिलाप्रशासनकीओसेपहलीबारइकोफ्रेंडलीपटाखेबनानेकेलिएप्रयासकिएजारहेहैं।येपटाखेजिलासिरमौरकेमंदिरोंमेंचढ़नेवालेफूलोंसेबनाएजाएंगे।इसकेलिएप्रशासनद्वारास्थानीयपटाखानिर्माताशकीलशेखकेसाथकरारकियाजारहाहै।यहकरारसीएसआइआरवपटाकानिर्माताकेबीचजिलाप्रशासनकीमौजूदगीमेंहोगा।इनपटाखोंसेप्रदूषणमें40से50फीसदकीकमीआएगा।यहपटाखेहानिकारकभीनहींहोगे।इनपटाखोंकेनिर्माणमेंएकविशेषतरहकेकेमिकलकाप्रयोगहोगा,जोकिप्रदूषणकीजगहखुशबूछोड़ेगा।

इकोफ्रेंडलीपटाखेवआतिशबाजीसेवातावरणमेंफैलनेवालेप्रदूषणकीमात्रामेंभारीकमीआएगी।साथहीगोबरसेदीपकवगमलेबनानेकेलिए5लाखरुपयेकाबजटस्वीकृतकियाजाचुकाहै।महामायामाबालासुंदरीमंदिरमेंफूलोंसेअगरबत्तीवधूपकायूनिटजल्दकार्यकरनाशुरूकरदेगा।

-डॉ.आरकेपरूथीउपायुक्तजिलासिरमौर