पढ़ें- रूह कंपा देने वाली मर्डर मिस्ट्री का सच, जिसने करोड़ों लोगों के उड़ाए थे होश

जांच

नईदिल्ली(जागरणस्पेशल)।चारदशकपहले26अगस्त,1978कादिनहिंदुस्तानकभीनहींभुलापाएगा,जबदिल्लीकीहोनहारलड़कीगीताऔरप्रतिभाशालीलड़केसंजयचोपड़ाकोदोबदमाशोंरंगा-बिल्लानेमौतकीनींदसुलादियाथा।दोनोंरिश्तेमेंभाई-बहनथे।

उसदिनदोनोंनेऑलइंडियारेडियो(AIR)जानेकेलिएबदमाशरंगाऔरबिल्लासेलिफ्टमांगीथी।लिफ्टदेनेकेबाददोनोंबदमाशोंनेचलतीकारमेंगीताऔरसंजयचोपड़ाकेसाथमारपीटकीऔरउसीरातदोनोंकीहत्याकरझाड़ियोंमेंफेंकदियाथा।

29अगस्त,1978कोदोनोंकीहत्याकीबातसामनेआईतोनिर्भयाकीतरहपूरादेशउबलपड़ा।दरअसल,हत्यासेपहलेगीताचोपड़ाकेसाथदुष्कर्मभीकियागयाथा।मीडियाऔरदेशकीजनताकेदबावमेंआखिरकारपुलिसनेकड़ीमेहनतकेबाददोनोंकोपकड़ाऔर4सालकीलंबीकानूनीप्रक्रियाकेबादरंगा-बिल्लाकोफांसीमिली।वहीं,बादमेंकेंद्रसरकारबहादुरबच्चे-बच्चियोंकेलिएब्रेवरीअवार्डलाई।जिसकानामगीताऔरसंजयचोपड़ाकेनामपररखागया।यहब्रेवरीअवॉर्डतबसेहरसाल26जनवरीकीपरेडकेदौरानबहादुरबच्चोंकोदियाजाताहै।

संजयनेबहनकोबचानेकेलिएलगादीथीजानकीबाजीजांचकेदौरानपुलिसनेपायाकिलिफ्टदेनेकेबादरंगाऔरबिल्लानेलूटपाटकेइरादेसेदोनोंकाअपहरणकियाथा।लेकिनइसदौरानशकहोनेपरगीताऔरसंजयचोपड़ानेकाररोकनेकीजिदकी,लेकिनरंगा-बिल्लानेकारनहींरोकीतोभाई-बहनदोनोंसेभिड़गए।संजयउसवक्त10वींकक्षाकाछात्रथा,लेकिन5फुट10इंचकीलंबाईवालासंजयअच्छाबॉक्सरभीथा।

बहनकेविरोधकेसाथवहभीरंगा-बिल्लासेभिड़गया।हताशबदमाशोंनेदिल्लीमेंहीएकसुनसानस्थानमेंलेजाकरगीताकेसाथदरिंदगीकी।इसबीचबीचसंजयनेजानकीबाजीलगाकरअपनीबहनकोबचानेकीभरपूरकोशिशकी,लेकिनरंगा-बिल्लानेउसेमारडाला।फिरपकड़ेजानेकेडरसेउनहोंनेगीताकीभीहत्याकरकेशवकोएकझाड़ीमेंफेंकदिया।

गुस्सेमेंथीदिल्ली,हुआथाजबरदस्तप्रदर्शनहोनहारभाई-बहनसंजयचोपड़ाऔरगीताचोपड़ाकीहत्यासेदिल्लीकीजनताबेहदनाराजथी।उनकीनाराजगीदिल्लीपुलिसकेरवैयेकोलेकरभीथी।समयबीतनेकेसाथलोगोंकागुस्साभड़कतागया।गीताचोपड़ादिल्लीविश्वविद्यालयकेसाउथकैंपसस्थितजीससएंडमैरीकॉलेजमेंकॉमर्ससेकेंडईयरकीछात्राथी।ऐसेमेंछात्रोंमेंभीजबरदस्तगुस्साथा।

उसदौरमेंनिर्भयाकेप्रदर्शनजैसीस्थितिहोगईथी।देशभरमेंप्रदर्शनहोरहेथे।अचानकएकदिनछात्रोंकाहुजूमबोटक्लबपहुंचगया।गुस्साएकईछात्रतोतत्कालीनपुलिसकमिश्नरकेघरतकपहुंचगएऔरदिल्लीपुलिसकेखिलाफनारेलगानेलगे।उधर,छात्र-छात्राओंकीभीड़बोटक्लबपरबढ़तीजारहीथी।इनमेंजीससएंडमेरीकॉलेजकीछात्राओंकीसंख्यासर्वाधिकथी।उसदौरानछात्रसंगठनभीसड़कोंपरथे।

छात्रोंकेगुस्सेकाशिकारहुएथेपूर्वपीएमअटलबिहारीवाजपेयी,पथरावमेंफूटाथासिरबोटक्लबपरबढ़तीप्रदर्शनकारियोंकीभीड़नेपुलिसप्रशासनकेसाथकेंद्रसरकारकोभीचिंतितकरदियाथा।प्रदर्शकारीछात्र-छात्राएंलगातारआरोपियोंकीगिरफ्तारीकीमांगकररहेथे,लेकिनपुलिसथीकिवहअंधेरेमेंहीतीरचलारहीथी।तबतत्कालीनएक्सटर्नलअफेयर्समिनिस्ट्रीसंभालरहेकेंद्रीयमंत्रीअटलबिहारीवाजपेयीबोटक्लबपहुंचेऔरप्रदर्शनकारीछात्रोंसेबातचीतकरनेलगे।

इसीदौरानछात्रोंकाएकसमूहइसकदरभड़काकिउसनेपथरावशुरूकरदिया।पत्थरावकेदौरानअटलबिहारीवाजपेयीकोभीपत्थरलगेऔरउनकेमाथेसेखूननिकलनेलगाऔरदेखते-देखतेउनकाकुर्ताखूनमेंसनगया।बतायाजाताहैकिअटलबिहारीकेमाथेपरबाईंओरचोटआईथी।छात्रोंकीइसहिंसकप्रतिक्रियाकेबादसरकारनेमामलेकीजांचक्राइमब्रांचसेलेकरकेेंद्रीयजांचएजेंसी(सीबीआइ)कोसौंपदीथी।

वारदातकेबादमुंबईफिरदिल्लीभीआयारंगा,नहींपकड़सकीपुलिसशातिरअपराधीऔरगीता-संजयचोपड़ाकेहत्यारेरंगा-बिल्लायहमानचुकेथेकिवहकभीपकड़ेहीनहींजाएंगे।यहीवजहथीकिवहआरामसेदिल्लीऔरदेशकेदूसरेकोनोंमेंघूमरहेथे।दोनोंमेंसेएकअपराधीरंगातोऔरभीनिश्चिंतथा।जहांवारदातकेबादबिल्लादिल्लीमेंआरामसेरहरहाथा,तोवहींरंगामुंबईचलागया।वह वहांभीछोटी-मोटीवारदातकोअंजामदेरहाथा।

इसपूरेमामलेमेंपुलिसकीलापरवाहीभीसामनेआईथी।जांचमेंखुलासाहुआथाकि26अगस्त,1978कोगीताऔरसंजयचोपड़ाकीनिर्ममहत्याकरनेकेबादरंगाबंबई(अबमुंबई)चलागयाथाओरवहांभीउसनेअपराधकिएथे।बादमेंवहदिल्लीआयाअपनेसाथीबदमाशबिल्लाकेसाथआगराचलागया।हैरानीकीबातहैकिवहट्रेनयाबसकेजरियेआगरागया,लेकिनपुलिसदोनोंकापकड़नहींसकी।

इत्तेफाकसेपकड़ेगएथेरंगा-बिल्लाजनताकेप्रदर्शनऔरराजनीतिकदबावकेबीचदिल्लीपुलिसरंगाऔरबिल्लाकोशिकारीकीतरहढूंढ़रहीथी,लेकिनवहदोनोंअपनीहीएकगलतीकीवजहसेपुलिसकेहत्थेचढ़ेथे।बतायाजाताहैकिआगरासेलौटतेसमयदोनोंनेट्रेनमेंसैनिकोंसेमारपीटभीकरलीथी।इसकेबादसैनिकोंनेइन्हेंपकड़करपुलिसकेहवालेकरदिया। वारदातके12दिनबादयानी8सितंबर1978कोरंगा-बिल्लापुलिससेभागनेकीकड़ीमेंआगरासेलौटनेकेदौरानकालकामेलमेंचढ़रहेथे।उससमयरेलवेस्टेशनपर100सेज्यादापुलिसवालेसादीवर्दीमेंखड़ेथे।पुलिसकोनहींपताथाकिरंगा-बिल्लाआनेवालेहैं।हुआयूंकियेदोनोंआर्मीवालोंकेलिएआरक्षितडिब्बेमेंचढ़गए।इसबीचदोसैनिकोंनेइनसेसवाल-जवाबकियातोआदतसेमजबूररंगा-बिल्लाउनपरहीरौबझाड़नेलगे।इसपरआर्मीवालोंनेइनकोपीटाऔरपुलिसकेहवालेकरदिया।

मां-बापबच्चोंकानामनहींरखतेरंगा-बिल्लाहत्याऔरदरिंदगीकेइसमामलेसेरंगा-बिल्लानामबदनामहोगया।हालांकि,रंगा-बिल्लाइनकाअसलीनामनहींथा,बल्कियहइनदोनोंकानिकनेमथा।बावजूदइसकेबादकोईमां-बापअपनेबच्चोंकानामरंगा-बिल्लारखनापसंदनहींकरता।बिल्लामतलबजसबीरसिंहऔरइसमर्डरकेसमेंउसकासाथीथारंगाखुस,जिसकाअसलीनामथाकुलजीतसिंह।

ऑलइंडियारेडियोमेंप्रोग्रामदेनाथादोनोंकोसंजयवगीताकेपितामदनमोहनचोपड़ानेवीमेंअधिकारीथेऔरमांरोमाघरेलूमहिलाथीं।संजयऔरगीतादोनोंभाई-बहनबेहदप्रतिभाशालीथे।दोनोंऑलइंडियारेडियोमेंयुववाणीमेंप्रोग्रामकरतेथे।हादसेकेदिन26अगस्त1978कोउन्हेंऑलइंडियारेडियोकेलिएसंसदमार्गजानाथा।दरअसल,दोनोंको7बजेवेस्टर्नगानोंकेएकफरमाइशीप्रोग्राम‘इनदग्रूव’मेंहिस्सालेनाथा।

प्रोग्रामखत्मकरतकरीबनदोघंटेबादयानीनौबजेपितामदनमोहनचोपड़ाकेसाथदोनोंकोवापसलौटनाथा।माता-पितादोनोंसंजय-गीताका8बजेहोनेवालाप्रोग्रामसुननेकेलिएबेताबथे।रेडियोऑनकरनेपरउन्हेंताज्जुबहुआ,क्योंकिउनकाप्रोग्रामहीरदहोगयाथा।उनकेस्थानपरदूसराप्रोग्रामब्रॉडकास्टहोरहाथा।बावजूदइसकेपितामदनमोहनअपनेबच्चोंसंजय-गीताकोलेनेनौबजेऑलइंडियारेडियोपहुंचे।वहांनहींमिलेतोघरलौटे,लेकिनदोनोंवहांपरभीनहींथे।

यूंहुआथासंजय-गीताकाअपहरण26अगस्त1978कोरंगा-बिल्लानामकेदोअपराधीचोरीकीकारलेकरदिल्लीकीसड़कोंपरघूमरहेथे।इसदौरानदोनोंपेशेवरअपराधीकिसीशिकारकीतलाशमेंथे।येमहजइत्तेफाकथाकिनईदिल्लीकेगोलडाकखानाकेपासइनकीकारगुजरनेकेदौरानसंजयऔरगीतानेउनसेलिफ्टमांगी।इसपरदोनोंनेउन्हेंबिठालिया।संजयऔरगीताकेकपड़ोंऔरबातचीतसेरंगा-बिल्लानेभांपलियाथाकिदोनोंअमीरघरहैंऔरअपहरणकरकेइनकेपरिवारसेअच्छी-खासीरकमफिरौतीकेरूपमेंहासिलकीजासकतीहै।इसकेबादरंगा-बिल्लानेकारमेंसंजय-गीताकाअपहरणकरलिया।

अपहरणकेबादअचानकहोगईएकअनहोनीरंगा-बिल्लानेसंजय-गीताकाअपहरणकरनेकेबादयहतयकरलियाथाकिइनकेमां-बापसेमोटीरकमवसूलनेकेबादइन्हेंछोड़देंगे।लेकिनइसदौरानउनकीकारएकबससेटकराकरक्षतिग्रस्तहोगई।

संजय-गीताकोअचानकहुआअनहोनीकाअहसासकारहादसेकेबादरंगा-बिल्लाकीशारीरिकभाषासेसंजय-गीताकोलगगयाथाकिवेइसकारमेंफंसगएहैं।दोनोंकारकोरोकनेकेलिएरंगा-बिल्लासेभिड़गए।कईराहगीरोंनेचारोंकोगुत्थम-गुत्थाहोतेहुएदेखाभीऔरबादमेंइन्होंनेगवाहीभीदी।

चोरीकीगाड़ीकेनंबरसेगफलतमेंरहीपुलिसमामलाहाईप्रोफाइलथाऔरएफआइआरदर्जकरतेहीपुलिसकारऔरआरोपियोंकीतलाशमेंजुटगई।इसदौरानएकचश्मदीदसामनेआए,जिनकानामभगवानदासथा।उन्होंनेबतायाकिदोलोगएकफिएटमेंबच्चोंकोजबरनलेजारहेथे।नींबूकेकलरकीएकफिएटगोलमार्केटचौराहेपरउनकेपाससेगुजरीथी।उसकीपिछलीसीटमेंसंजयऔरगीताथे।भगवानदासनेगाड़ीकानंबरएमआरके8930बतायाथा।रंगा-बिल्लानेकारचोरीकरनेकेबादउसकानंबरबदलदियाथा।इससेपुलिसकीउलझनबढ़गईथी।

चोरीकीकारथीहरियाणाकेरविंदरगुप्ताकीपुलिसनेदबावबढ़तादेखकरअपनीजांचकादायरबढ़ादिया।जांचकीकड़ीमेंउसकारऔरकारकेमालिककोखोजनेकेलिएपुलिसनेट्रांसपोर्टविभागकीमददभीली।जांचकेदौरानपताचलाकिकारपानीपतकेरहनेवालेरविंदरगुप्ताकीथी।पुलिसनेपानीपतपहुंचनेपरपायाकिनंबरतोएचआरके8930था,लेकिनकारफिएटनहींथी।हालांकि,पुलिसअबइसनतीजेपरपहुंचचुकीथीकिउसपरफर्जीनंबरप्लेटलगीथी।

आखिरकारमिलहीगईवारदातवालीकारभारीदबावऔरजांचकेदौरान31अगस्तकोकारमजलिसपार्कमेंमिली।कारकानंबरडीएचडी7034थाऔरइसनंबरकीकारचोरीहोगईथी।हैरानीकीबातयहथीकिइसीमॉडलकीएकऔरकारचोरीहुईथीऔरइसकानंबरडीईए1221था।कारकेमालिकअशोकशर्माकेमुताबिक,नईदिल्लीकेअशोकाहोटलकेसामनेसेकारचोरीहुईथी।अशोकनेउसेचोरीकेछहहफ्तेपहलेहीखरीदाथा।जांचमेंमिलाकिस्टीरियोऔरस्पीकरगायबथे।पहलीनजरमेंउसमेंकुत्तेकीचैनऔरकईब्लेड्समिलीं।दोनंबरप्लेट्सभीमिलींजिसमेंएकअसलीथी।कारकीसफेदग्रिलकोबदलकरकालाकरदियागयाथा।जांचमेंबालोंकेगुच्छेऔरखूनकेधब्बेभीमिले।अनहोनीअबहोनीमेंतब्दीलहोगईथी।फिंगरप्रिंट्सऔरदूसरेफोरेंसिकसबूतोंनेसाफतौरपरबतादियाथाकिइसकेसमेंबिल्लाकाहाथहै।

29अगस्तकोशुरूहुईथीपुलिसकीअसलीचुनौतीरंगापहलेट्रकड्राइवरथा।हालांकि,वहबादमेंमुंबईमेंटैक्सीचलानेलगाथा।इसबीचउसेशामसिंहनामकेआदमीनेबिल्लासेमिलवायाथा।बतायाजाताहैकिइसमुलाकातकेचंददिनोंपहलेहीबिल्लानेदोअरबनागरिकोंकोमाराथा।क्रिमिनलमाइंडकाहोनेकेचलतेरंगा-बिल्लादोनोंएकसाथगैंगचलानेलगे।टैक्सीकीजांचकेबादपुलिसइसनतीजेपरपहुंचचुकीथीकिसंजयऔरगीताकाअपहरणऔरहत्यारंगा-बिल्लानेहीकीहै।इसकेबादपुलिसनेदेशकेकईराज्योंमेंरंगा-बिल्लाकीखोजमेंटीमोंकोलगादिया।आखिरकारदोनोंकोपकड़लियागया।

31जनवरी,1982कोरंगा-बिल्लाकोदीगईफांसीपुलिसकेहत्थेचढ़ेरंगा-बिल्लाकोलेकरलोगोंमेंभारीरोषथा।देशकाहरशख्सचाहताथाकिरंगा-बिल्लाकोफांसीहो।जांचमेंपायागयाथाकिदोनोंनेवारदातकेदौरानकारमेंकईअहमसबूतछोड़ेथे।सड़कपरकारदौड़ानेकेदौरानकईगवाहभीमिलगएथे।गीताचोपड़ाकीपोस्टमार्टमरिपोर्टसेयहपताचलाथाकिउसकेसाथदरिंदगीहुईथी।हालांकि,कानूनीप्रक्रियामेंचारसाललगेऔरआखिरकार31जनवरी,1982कोदोनोंकोतिहाड़जेलमेंफांसीदेदीगई।

यहभीपढ़ेंः केजरीवालःएकनायकजोबदलनेआयाथाभारतीयराजनीतिको,खुदइतनाबदलगया