पिता ने दिखाई राह, बेटी ने भरी उड़ान

जांच

हंसराजसैनी,मंडी

पितानेराहदिखाईतोबेटीनेउड़ानभरनेमेंदेरीनहींलगाई।सेनामेंशामिलहोनेकीठानीतोपरीक्षाउत्तीर्णकरदमलिया।हरियाणाकेमहेंद्रगढ़केपावेरगांवकीरहनेवालीनेहाग्रेवालनेसंयुक्तरक्षासेवा(सीडीएस)परीक्षामेंदूसरास्थानहासिलकियाहै।

नेहाग्रेवालने2018मेंभारतीयप्रौद्योगिकीसंस्थान(आइआइटी)मंडीसेइलेक्ट्रिकलइंजीनियरिंगमेंबीटेककीथी।वर्तमानमेंवहहैदराबादमेंएककंपनीमेंकार्यरतहै।दिसंबरमेंआफिसर्सट्रेनिंगअकादमीचेन्नईमेंज्वाइनकरेंगी।सीडीएसपरीक्षामेंदेशभरमेंदूसरीरैंकिंगहासिलकरनेवालीनेहाग्रेवालनतीजाआनेकेबादस्वजनसेनहींमिलीहै।स्वजनराजस्थानकेजयपुरमेंरहतेहैं।पितारामचंद्रग्रेवालरेलवेसेसेवानिवृत्तहुएहैं।मांप्रेमलतागृहिणीहैं।बड़ाभाईमुंबईमेंआयकरअधिकारीहै।छोटाभाईपर्सनलजिमट्रेनरहै।नेहाकीस्कूलीशिक्षाजयपुरमेंहुई।जमादोउत्तीर्णकरनेकेबादहरबच्चेवउसकेस्वजनकेसमक्षएकसबसेबड़ाप्रश्ननहोताहैकिअबकौनसारास्ताचुने।रामचंद्रग्रेवालनेइसकेलिएबेटीपरकोईदबावनहींबनाया।उन्होंनेकालेजमेंपढ़ाईयाफिरइंजीनियरिगकोअपनाक्षेत्रचुननेकीखुलीछूटदी।पिताकीदिखाईराहपरचलनेहानेबीटेककरनेकानिर्णयलिया।अखिलभारतीयइंजीनियरिगप्रवेशपरीक्षापासकी।आइआइटीमंडीमेंइलेक्ट्रिकलइंजीनियरिंगट्रेडमिला।स्वजनकीखुशीकाकोईठिकानानहींरहा।2018मेंबीटेककरतेहीनेहाकाचयनहैदराबादकीएककंपनीमेंहोगया।बीटेककरनेकेबादवहवायुसेनामेंशामिलहोनाचाहतीथी,लेकिनउम्रआड़ेआगई।सीडीएसपासकरसेनामेंजानेकीठानी।पांचबारमिलीअसफलतासेउसनेहौसलानहींहारा।परीक्षाकीतैयारीमेंनौकरीआड़ेआरहीथी।तैयारीकेलिएउचितसमयनहींमिलपारहाथा।2020मेंछठीबारपरीक्षादीऔरदेशभरमेंदूसरीरैंकिगहासिलकी।मिसकरतीहैंमंडयालीधामवसिड्डू

देवभूमिहिमाचलकीवादियांबहुतखूबसूरतहैं।प्रदूषणनामकीकोईचीजनहींहै।मैदानीक्षेत्रोंमेंऐसासाफवातावरणनहींदिखता।2014मेंजबजयपुरसेयहांआईथीतोपहाड़देखकुछअटपटालगाथा,यहांकीवादियोंवसंस्थानमेंचारसालकैसेगुजरगए,पताहीनहींचला।मंडीकीमंडयालीधामवकुल्लूकेसिड्डूआजभीमिसकरतीहूं।हिमाचलकेलोगबहुतईमानदारहैं।उनकामोबाइलफोनगुमहोगयाथा।जिसव्यक्तिकोमोबाइलमिलाथावहउसेदेनेसंस्थानपहुंचगयाथा।वहयहांकेलोगोंकीईमानदारीदेखहैरानरहगईथी।बकौलनेहा,पितानेउन्हेंकरियरचुननेकेलिएखुलीछूटदी,उन्हींकीबदौलतआजवहइसमुकामतकपहुंचपाईहै।