PM Kisan Samman Nidhi Yojana: बंगाल के 26 लाख किसानों को मिली पीएम किसान सम्मान निधि योजना की दूसरी किस्त

जांच

राज्यब्यूरो,कोलकाता।बंगालके26लाखसेज्यादाकिसानोंकोसोमवारकोप्रधानमंत्रीकिसानसम्माननिधियोजना(पीएमकिसान)केतहतदूसरीकिस्तकीदो-दोहजाररुपयेकीराशिमिली।प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेइसदिनवीडियोकांफ्रेंसिंगकेमाध्यमसेइसयोजनाकीनौवींकिस्तजारीकरतेहुएदेशभरके9.75करोड़सेअधिककिसानोंकेखातोंमें19,500करोड़रुपयेहस्तांतरितकिए।देशभरकेकिसानोंकोनौवींकिस्तमिलीं,जबकिबंगालकेकिसानोंकेलिएयहदूसरीकिस्तथी।इससेपहलेमईमेंबंगालकेसातलाखसेज्यादाकिसानोंकोपीएमकिसानयोजनाकीपहलीकिस्तमिलीथी।फरवरी,2019मेंकेंद्रनेकिसानोंकीआयबढ़ानेऔरखेती-बाड़ीमेंउनकीमददकरनेकेलिएइसयोजनाकीशुरुआतकीथी।

इसयोजनाकेतहतकिसानोंकोहरसालदो-दोहजाररुपयेकीतीनकिस्तमेंकुल6,000कीराशिसीधेबैंकखातेमेंदिएजातेहैं।हालांकिममतासरकारनेइसयोजनाकोपहलेलागूनहींहोनेदिया।हालमेंविधानसभाचुनावसेपहलेजबभाजपानेताओंनेइसेमुद्दाबनायातोसियासीनुकसानकोदेखतेहुएमुख्यमंत्रीममताबनर्जीनेकेंद्रकोपत्रलिखकरयोजनालागूकरनेपरसहमतिजताई।वहीं,चुनावमेंलगातारतीसरीबारजीतमिलनेऔरपांचमईकोसीएमकीकुर्सीसंभालनेकेबादममतानेकिसानोंकीसूचीकेंद्रसरकारकोभेजीथी।इसकेबादपीएममोदीनेविधानसभाचुनावमेंहारकेबावजूदअपनेवादेकेअनुसारदेशकेअन्यराज्योंकेसाथ-साथबंगालकेभीसातलाखसेअधिककिसानोंकेखातेमेंयोजनाकेतहतदो-दोहजाररुपयेभेजे।हालांकिममतानेउससमयभीसवालउठायाथाकिदो-दोहजाररुपयेहीक्योंभेजेगए।किसानोंकोपिछलाबकायाजोड़कर18,000रुपयेमिलनेचाहिएथे।

ममताकीआपत्तिकेकारणलाभसेवंचितरहगएथेबंगालकेकिसान:सुवेंदु

इधर,बंगालविधानसभामेंविपक्षकेनेतावभाजपाविधायकसुवेंदुअधिकारीनेममतासरकारपरनिशानासाधतेहुएकहाकि2019मेंहीयहयोजनाशुरूकीगईथीलेकिनलाभार्थियोंकोसीधेबैंकमेंपैसाहस्तांतरणकोलेकरमुख्यमंत्रीकीआपत्तिकेकारणबंगालकेकिसानइसकेलाभसेवंचितरहगएथे।उन्होंनेकहाकिममतासरकारकोबिचौलिएसंस्कृतिऔरकटमनी(कमीशन)व्यवस्थाकोबढ़ावादेनेमेंउत्कृष्टताप्राप्तहै।उन्होंनेकहाकिशेषकिसानोंकापूर्णप्रमाणिकविवरणअभीउपलब्धनहींकरायागयाहै,इसीलिएउन्हेंयोजनाकालाभनहींमिलाहै।इधर,राज्यकेएकवरिष्ठअधिकारीकीमानेंतोअगरसहीसेनामशामिलकिएजाएंतोबंगालकेकरीब68लाखकिसानइसयोजनाकेपात्रहोंगे।लेकिनअभीतककरीब26लाखकिसानोंकेनामोंकोहीकेंद्रद्वारास्वीकारकियागयाहै।बंगालसरकारद्वारापिछलेदिनों44.8लाखकिसानोंकेनामकेंद्रकोभेजेगएथे,इनमेंसे9.5लाखकिसानोंकेनामकोखारिजकिएजानेकोलेकरहालमेंममतासरकारनेकेंद्रकोपत्रलिखकरआपत्तिजताईथी।