साइबर अपराध में पुलिस ही नहीं परिजनों को भी छका रहे बच्चे Gorakhpur News

जांच

गोरखपुर,जेएनएन।साइबरअपराधमेंबच्चेएकनईचुनौतीबनकरपुलिसकेसामनेआरहेहैं।उनकीउम्रदेखकरपहलेउनपरसंदेहनहींहोताहै।वहघटनाओंकोइतनेशातिरानाअंदाजमेंअंजामदेरहेहैंकिपुलिसकेलिएघटनाकाअनावरणआसाननहींरहरहा।अधिकांशमामलोंमेंबच्चोंनेअपनेघरवालोंकोहीनिशानाबनायाहै।इसलिएउनकेविरुद्धकोकोईमुकदमाभीदर्जनहींहुआहै।उनकेपीछेसाइबरथानावसाइबरसेलकीटीमकाकईमाहकावक्तजरूरबर्बादहुआहै।

आठमाहके24साइबरअपराधकेमास्टरमाइंडबच्चे

आठमाहमेंपुलिसकेपाससाइबरअपराधके24ऐसेमामलेसामनेआएहैं,जिसमेंघटनाकोअंजामबच्चोंनेदियाहै।घटनाकोअंजामदेनेवालेबच्चोंकीउम्र10से14वर्षकेकरीबहै।कमउम्रकेकारणआसानीसेकिसीकोउनपरसंदेहनहींहोताहै।

गर्लफ्रैंडकेमोबाइलवदोस्तोंकीपार्टीकेलिएनिकाले2.02लाख

चौरीचौराक्षेत्रमेंनौंवीमेंपढऩेवालेएक13वर्षीयबालकनेगर्लफ्रैंडकेमोबाइलवदोस्तोंकीपार्टीकेलिएबाबाकेखातेसे2.02लाखरुपयेनिकाललियाथा।करीबमाहभरतकसाइबरथानेकीटीमइसमामलेमेंपरेशानरही।पीडि़तकादावाकिवहबैंकगयाहीनहींथाऔरनाहीएटीएमकाउपयोगकियाथा।छानबीनकेदौरानपताचलाकिबच्चेनेथंबस्कैनरपरबाबाकाअंगूठालगवाकरतीनमाहमेंयहरुपयेनिकालेहैंऔरबार-बारवहबाबाकोकहतारहाकिवहटयुशनकेलिएरुपयेनिकालरहाहै।

पिताकेमोबाइलकीओटीपीबताकरगंवाए1.75लाख

रेतीचौककेपासकेछठवींमेंपढऩेवालेएकबच्चेनेपबजीखेलकेदौरानजालसाजोंनेपिताकेमोबाइलकीओटीपीबताकर1.75लाखरुपयेगंवादिया।इसप्रकरणमेंभीपुलिसकरीबसप्ताहभरतकपरेशानरही।बादमेंपताचलाकिघटनाकोबच्चेनेअंजामदियाहैतोस्वजनभीबैकफुटपरआगए।

क्लासमेटकोउसीआईडीसेधमकीदेरहीथीछात्रा

पीपीगंजथानाक्षेत्रकीएकछात्राक्लासमेटकोउसीकीआईडीसेधमकीदेरहीथी।मामलासाइबरथानेपहुंचातोपुलिसभीभौचकरहगई।भलानौंवीमेंपढऩेवालीबच्चीकाकौनब्वायफ्रैंडहोगा।छानबीनकेदौरानपताचलाकिउसेधमकीदेनेवालीउसीकेक्लासकेछात्रहैं।

पुलिसकेसमक्षयहचुनौतियांतोआईहैं।अभिभावकोंकोबच्चोंकीपरवरिशकेदौरानथोड़ागंभीरहोनापड़ेगा।इसपरध्यानदेनाहोगाकिवहपढ़रहाहैतोकौनसीपढ़ाईकररहाहै।उसकेदोस्तकौनहैं।-डा.एमपीसिंह,एसपीक्राइम।