शिक्षा से ही बदलेगी समाज व देश की तकदीर : डीएम

जांच

सीतामढ़ी।जिलापदाधिकारीडॉ.रणजीतकुमार¨सहनेलड़कियोंकोदेशकाभविष्यबतातेकहाकिपढ़ाईकाअवसरयदिसमानहोतोलड़कियांलड़कोंकीतुलनामेंकहींज्यादाआगेनिकलसकतीहै।उन्होंनेअभिभावकोंकोइसदिशामेंजागरूकहोनेतथाछात्राओंकोअपनीउड़ानतेजकरनेकीनसीहतदी।जिलापदाधिकारीडॉ.¨सहगुरुवारकोमध्यविद्यालयथुम्मा(कन्या)मेंनवनिर्मितविमला-भरतपुस्तकालयकेउद्घाटनकेमौकेपरलोगोंकोसंबोधितकररहेथे।उन्होंनेकहाकिपढ़ाईहींएकऐसामाध्यमहैजिससेसमाजअथवादेशकीदशावदिशाकेसाथसाथतकदीरवतस्वीरबदलीजासकतीहै।डीएमनेयहभीकहाकिलड़कियोंकोघरसेबाहरनिकलनेमेंतरह-तरहकीपाबंदियांहै।सवालियालहजेमेंपूछाकिशुद्धताकाआरोपणलड़कियोंकेलिएहींक्यों?उन्होंनेबच्चियोंपरखासध्यानरखनेकीजरूरतबताई।यहभीकहाकिशिक्षकआदरणीयहैं,राष्ट्रकेनिर्माताहैं।शिक्षकयदिसहीमायनोंमेंशिक्षककी

रोलमेंआजायेंतोपूरीकीपूरीतस्वीरबदलसकतीहै।जोशिक्षकपढानाचाहतेहैं,उन्हेंप्रोत्साहनमिले।विद्यालयोंमेंफंडकीकमीनहींहै।हालांकि,नैतिकपतनइतनाहैकिसबकुछबिखरसागयाहै।उन्होंनेकहाकिसीतामढ़ीमेंउनकोआयेपूरेपांचमाहवतीनदिनहोचुकेहैं।साठफीसदविद्यालयोंमेंरंगरोगनहोचुकेहैं।विद्यालयोंमेंनएशौचालयोंकानिर्माणबढ़रहाहै।अपनीउपलब्धियोंकाआकलनमैंप्रतिदिनकरताहूं।ओडीएफघोषितहोनेकेसाथसाथजिलेकोप्लास्टिकसेफ्रीकरनेकाअभियानजारीहै।उनकाप्रयासयहभीहैकिसीतामढ़ीसाम्प्रदायिक¨हसासेमुक्तघोषितहो।जिलापदाधिकारीद्वाराउद्घाटनपुस्तकालयकोथुम्मागांवनिवासीवभारतीयप्रशासनिकसेवाकेअधिकारीसत्यजीतराजनद्वाराअपनेस्वर्गवासीमातापिताकेनामपरएकसार्थकप्रयासबतायागया।स्व.भरतप्रसादकेसमस्तपरिवारकीओरसेघोषणाकीगईकिउनकीओरसेविद्यालयकीआठवींजमातकीअव्वलतीनछात्राकोउनकेशैक्षणिक-खेलकूदवनारीसशक्तिकरणकीदिशामेंउत्कृष्टताकेआधारपरप्रतिवर्षपांचहजाररुपयेकीछात्रवृत्तिदीजाएगी।मौकेपरसंजीवराजन,सिम्मीराजन,स्मितावर्मावनिगधावर्माकेअलावाजिलाशिक्षापदाधिकारीरामचन्द्रमंडल,बीईओमाधवेन्द्रकुमारवबीकेचौधरी,शिक्षकसंघनेतादिलीपकुमारशाहीतथास्थानीयमुखिया¨पकीदेवीआदिमौजूदथी।