शोभायात्रा के चंदे से चमकेंगे पुस्तकालय

जांच

नवनीतशर्मा,मेरठ:शहरीक्षेत्रमेंशामिलगावलिसाड़ीनेअपनीपरंपराकेसाथआपसीभाईचारेवशिक्षाकेमहत्वकोसर्वोपरिरखतेहुएनजीरप्रस्तुतकीहै।ग्रामीणोंनेमिलकरपहलेगांवमेंतीनपुस्तकालयोंकासंचालनशुरूकिया।अबडा.आंबेडकरकेजन्मोत्सवपर14अप्रैलकोनिकालीजानेवालीशोभायात्रापरखर्चहोनेवालेचंदेकेपैसेकोपुस्तकालयोंकोसमृद्धकरनेमेंलगानेकानिर्णयलियाहै।

वर्ष2015मेंगांवलिसाड़ीनिवासीकुछयुवाओंनेमिलकरगांवमेंखालीपड़ेआंबेडकरभवनमेंपुस्तकालयशुरूकरनेकीपहलकी।देखतेहीदेखतेगांवमेंएकअन्यआंबेडकरभवनवखालीपड़ेसरकारीभवनमेंभीपुस्तकालयशुरूहोगए।शिक्षाकेलिएबदलीसोच

गांवमेंवर्ष1978मेंबड़ेस्तरपरपहलीबारडा.आंबेडकरजन्मोत्सवपरशोभायात्राकाशुभारंभहुआथा।फिलहालइसपरहरसालदोसेढ़ाईलाखरुपयेकाखर्चआरहाहै।अबयुवाओंमेंशिक्षाकेप्रतिबढ़तीलगननेग्रामीणोंकीसोचकोबदलदिया।शोभायात्राकेलिएजमाकिएकरीबसवादोलाखमेंसे80प्रतिशतरुपयेसेडा.बीआरआंबेडकरपुस्कालयकासुंदरीकरणशुरूकियाहै।यहांटाइल्सलगानेकेसाथनयाफर्नीचरवकूलरआदिकीव्यवस्थायुवाओंकेलिएकीजारहीहै।कामयाबीनेजगाईउम्मीद

इन्हींपुस्तकालयोंमेंप्रतियोगीपरीक्षाकीतैयारीकरगांवनिवासीयुवाखंडशिक्षाअधिकारी,यूपीपुलिसमेंएसआइ,कांस्टेबल,दिल्लीपुलिसमेंकांस्टेबल,बेसिकशिक्षाविभागमेंशिक्षक,इग्नू,रेलवेऔरसेनाआदिमेंसेवापाचुकेहैं।यहींनहींआसपासकेगांवोंकेयुवाभीइनपुस्तकालयोंमेंअध्ययनकेलिएआतेहैं।---

युवाओंकोआगेबढ़नेवशिक्षाकेमहत्वकोदेखतेहुएसभीनेआपसीसहमतिसेनिर्णयलियाहै।शोभायात्राकाआकारकमकरचंदेमेंमिलेरुपयोंकोपुस्तकालयकोसंवारनेमेंखर्चकियाजारहाहै।

-चैनलालपूर्वप्रधानवसंरक्षक,शोभायात्राकमेटीयुवाअपनीपरंपरासेदूरनहो,इसकेलिएशोभायात्राकाआयोजनतोकियाजाएगा।लेकिनकोईभीअतिरिक्तखर्चनहींहोगा।अधिकांशपैसापुस्तकालयकेविस्तारकेलिएदियागयाहै।

-मा.लक्ष्मीचंद,अध्यक्ष,शोभायात्राकमेटी