संक्रमितों से मिली कोरोना से अलगाव की सीख

जांच

जामताड़ा:नारायणपुरप्रखंडकेटोपाटांड़पंचायतकेअंबाटांड़गांवमेंग्रामीणोंकासख्तपहराहै।कोईभीबेवजहनतोघरसेनिकलसकताहैऔरनहीकोईअंजानगांवमेंप्रवेशकरसकताहै।गांवमेंनतोबच्चोंकीचहलकदमीऔरनहीबड़े-बुजुर्गोकीकोईगतिविधि।सभीकाएकहीमिशनघरमेंरहेंऔरकोरोनासेसुरक्षितरहे।

गांवमें300घरोंमेंकरीब350आबादीहै।गांवमेंआधादर्जनमहिला-पुरुषप्रत्यक्षएवंअप्रत्यक्षरूपसेसंक्रमितहोचुकेहैं।जिसकाउपचारयुवाओंकेप्रयाससेचिकित्सककीसलाहपरहोमआइसोलेटमेंहीहुआ।गांवमेंजबआधादर्जनलोगसंक्रमितहोगएतोगांवकेलोगोंमेंसतर्कताबढ़गई।लोगोंनेबेवजहघरसेबाहरनिकलनाहीछोड़दिया।इतनाहीनहींबाहरीलोगोंकाभीगांवमेंप्रवेशपरप्रतिबंधलगादियागया।नतीजायहनिकलाकिअबगांवमेंएकभीसंक्रमितनहींहैं।वर्तमानसमयमेंभीमहामारीनियंत्रणकोलेकरगांवकीनिगरानीयुवासमूहहीकररहाहै।सतर्कएवंनिगरानीकापरिणामहैकिगांवमेंसंक्रमणकाप्रभावनहींहै।हालांकिगांवमेंसंक्रमणकेपांवपसारनेकेउपरांतस्वास्थ्यविभागकाविशेषपहलनहींरहाहै।यहांस्वयंअपनेखर्चपरचिकित्सकीयउपचारएवंदवाआदिकीव्यवस्थाहुई।

क्याकहतेहैंग्रामीण:गांवमेंपहलेतीनसंक्रमितकीपहचानहुईइसकेउपचारकेसाथहीगांवमेंसतर्कताकोप्राथमिकताकीसूचीमेंशामिलकरलियागयाजिसकापरिणामहैकिसमयपरसभीसंक्रमितस्वस्थहोगएएवंवर्तमानसमयमेंगांवमेंसंक्रमितकीसंख्याशून्यहै।

पुरुषोत्तमओझा,छात्र,फोटोन.29

भलेहीस्वास्थ्यविभागहोमआइसोलेटसंक्रमितकोमेडिकलकिटउपलब्धकरानेकेसाथसमय-समयपरउसकेस्वास्थ्यगतिविधियोंकीजानकारीलेनेकाढोलपीटरहाहो,लेकिनसच्चाईयहीहैकिजांचउपरांतसंक्रमणहोनेपरसंक्रमितकोमहजतीनप्रकारकीसामान्यदवाउपलब्धकराकरउसेहोमआइसोलेटकरदियाजाताहैइसकेबादसंक्रमितकाहाल-खबरलेनेमेंस्वास्थ्यविभागउचितनहींसमझतेहैं।यहीहालमेरेगांवमेंभीहुआ,लेकिनयुवाओंकीजागरूकताकेकारणपरिणामबेहतरहुआहै।

कन्हैयालालओझा,समाजसेवी,फोटोन.30

महामारीनियंत्रणकोलेकरयुवाहीनहींबल्किसभीग्रामीणभीसतर्कहैं।वर्तमानसमयमेंभीकिसीभीपरिवारमेंकिसीकेस्वास्थ्यगड़बड़ीहोनेपरयुवासमूहकोसूचितकियाजाताहै।युवास्वास्थ्यगतिविधियोंकाआकलनकरचिकित्सकसलाहपरदवाउपलब्धकरातेहैं।आधादर्जनसंक्रमितहोनेकेबावजूदभीस्वास्थ्यविभागनेइसगांवमेंकिसीप्रकारकीपहलनहींकीहै।

आनंदमोहनतिवारी,छात्र,फोटोन.31

गांवमेंआधादर्जनसेअधिकलोगोंकोसर्दी,खांसी,बुखारआदिसंक्रमितबीमारीसेग्रसितहोनापड़ा,लेकिनस्थानीयचिकित्सककेसलाहपरमहजतीनदिनकीदवाखानेकेउपरांतसभीस्वस्थहोगए।हालांकिमहामारीकोलेकरमहिलापुरुषएवंबच्चेसतर्कहैं।गांवमेंविद्यालयतथाआंगनबाड़ीकेंद्रबंदहै,इसकारणबच्चेअपनेघरमेंहीरहतेहैं।

टुनटुनकुमार,मजदूर,फोटोन.32