तेलंगाना के गांव को मिला ‘कोविड-सुरक्षा कवच’, सभी निवासियों ने ली टीके की पहली खुराक

जांच

नयीदिल्ली,तीनअगस्त(भाषा)तेलंगानामेंसिरचिल्लाजिलेकाराजन्नापेटगांवकोकोविड-19सेबचावका‘सुरक्षाकवच’मिलगयाहैक्योंकियहांकेसभीवयस्कटीकेकीकमसेकमएकखुराकलेनेकेसाथभविष्यमेंभीसंक्रमणसेबचनेकेउपायोंकाअनुपालनकररहेहैंऔरयहउपलब्धि‘प्रोजेक्टमदद’सेप्राप्तहुई।उल्लेखनीयहैकिप्रोजेक्टमददभारतमेंऔरविदेशमेंरहरहेभारतीयडॉक्टरोंऔरस्वयंसेवकोंकासामूहिकप्रयासहैजिसमेंवेमिलकरग्रामीणभारतकेलोगोंकोकोविड-19महामारीकेबारेमेंजागरूककरतेहैंऔरस्वास्थ्यसहायतामुहैयाकरातेहैं।प्रोजेक्टमददनेभारतीयगांवोंकोकोविड-19महामारीसेप्रतिरक्षाकाएकमॉडलतैयारकियाहै।सरकारकेसहयोगसेप्रोजेक्टमददसेतेलंगानाकेसिरचिल्लाजिलेकेराजन्नापेटगांवकोकोविडप्रतिरोधीबनानेमेंसफलतामिलीहै।परियोजनासेजुड़ेलोगोंनेबतायाकि,‘‘31जुलाईकोराजन्नापेटनेकोविडप्रतिरोधीबननेकालक्ष्यप्राप्तकिया,जहांपर1,328वयस्कोंकोकोविड-19टीकेकीपहलीखुराकदीजाचुकीहै।’’समूहनेबतायाकिउसनेग्रामीणोंमेंव्यवहारसंबंधितबदलावलानेकेलिएपांचसूत्रीप्रगतिशीलमॉडलअपनाया।संगठनकेमुताबिकयहनकेवलटीकाकरणकोलेकरथाबल्किभविष्यमेंकिसीसंभावितलहरसेनिपटनेकेलिएभीथा।उन्होंनेबतायाकिइसमॉडलमेंपांचतत्वशामिलहैं--ग्रामीणस्वास्थ्यकर्मियोंकोसशक्तऔरउपकरणोंसेलैसकरना,स्थानीयभाषामेंकोविडसेजुड़ीभ्रांतियोंकोदूरकरना,सामाजिकस्तरपरव्यवहारमेंबदलावलानेकेलिएनवोन्मेषीतरीकोंकाइस्तेमालऔरटीकेकीस्वीकार्यताबढ़ानेकेलिएकार्यकरना,खासउद्देश्योंकेलिएप्रौद्योगिकीकाइस्तेमालऔरटीकेकीलक्षितआपूर्तिकरनाताकिसार्वभौमिकलक्ष्यकोप्राप्तकियाजासके।त्रिपुरा,गोवा,महाराष्ट्रऔरजम्मू-कश्मीरकेकईगांवोंमेंसभीयोग्यनिवासियोंकाटीकाकरणकियाजाचुकाहैलेकिनप्रोजेक्टमददनेदावाकियाकिराजन्नापेटभारतकापहला‘कोविडसुरक्षाकवच’प्राप्तगांवहैऔरउनकाएकअलगमॉडलहै।