तीन साल बाद अपने परिजन से मिली चंदा

जांच

जागरणसंवाददाता,झारसुगुड़ा:बिहारकेनालंदाजिलानिवासी32वर्षीयचंदाखातूनझारसुगुड़ाप्रशासनकीमददसेतीनवर्षोंकेबादअपनेपरिवारसेमिली।

चंदानेबतायाकिबिहारसेआतेसमयमानसिकस्थितिठीकनहींथीजिसकेकारणअपनेदोनोंबच्चोंकोकहांछोड़ाइसकीजानकारीनहींहै।

चंदाखातूनससुरालमेंमानसिकवशारीरिकउत्पीड़नकिएजानेकेबादअपनेदोबच्चोंकोलेकरघरछोड़करनिकलगईथी।विगत19जनवरीकोअसहायचंदाकोब्रजराजनगरस्थितहिलटॉपकॉलोनीमेंरामपुरपुलिसचौकीकेअधिकारीनेबरामदकरकियाथा,जिसकेबादउसेमिशनआसरामेंभेजदियागयाथा।यहांचंदाकाइलाजहोनेकेबादजबवहपूरीतरहसेस्वस्थहोगईतोउसकीकाउंसिलिंगकराईगई।तबचंदानेअपनेपरिवारकापरिचयदियातथाअपनाघरबिहारकेनालंदाजिलामेंहोनेकीजानकारीदी।इसकेबादपुलिसकीमददसेचंदाकेभाईवजीजाकोझारसुगुड़ाबुलायागया।चंदापूरीतरहस्वस्थहोगईहै।चंदाकोउसकेपरिजनोंकोसौंपनेकेदौरानअसिस्टेंटकलेक्टरगौंतिकानायक,जिलासामाजिकसुरक्षावदिव्यांगसशक्तीकरणविभागकेप्रतिभाबेहेराआदिउपस्थितथे।