UP TET 2018 : सहायक शिक्षक भर्ती जारी रखने का निर्देश, रविवार को समय पर होगी परीक्षा

जांच

प्रयागराज,जेएनएन।इलाहाबादहाईकोर्टनेटीईटी2018केअभ्यर्थियोंकीअपीलस्वीकारकरनेकेसाथहीप्रदेशमेंकलहोनेवालीसहायकअध्यापकभर्तीपरीक्षाकोजारीरखनेकानिर्देशदियाहै।इलाहाबादहाईकोर्टनेखारिजकीहिमांशुकुमारवअन्यकीयाचिकाखारिजकी।शिक्षकभर्तीकीलिखितपरीक्षारविवारकोसमयपरहोगी।बेसिकशिक्षापरिषदकीकलहोनेवाली69हजारसहायकअध्यापकभर्तीकीलिखितपरीक्षाअपनेसमयसेहोगी।

इलाहाबादहाईकोर्टनेआजअपनेफैसलेमेंआवेदकयानीयाचियोंकोप्राविधिकरूपसेसहायकअध्यापकभर्तीपरीक्षामेंबैठनेदेनेकानिर्देशहै।उनकारिजल्टयाचिकाकेफैसलेकेअधीनहोगा।इसकेसाथहीकोर्टने11जनवरीकोटीईटी2018कीओएमआरसीटकीतलबहै।यहआदेशइलाहाबादहाईकोर्टकेन्यायमूर्तिपंकजमित्तलवन्यायमूर्तिआरआरअग्रवालकीखंडपीठनेविशेषअपीलकीसुनवाईकरतेहुएदियाहै।डबलबेंचनेकलफैसलासुरक्षितकरलियाथा।

इससेपहलेएकलपीठकेआदेशकेखिलाफविशेषअपीलदाखिलकरनेपरडबलबेंचकानिर्णयसुरक्षितरखागयाथा।69हजारशिक्षकभर्तीकीलिखितपरीक्षाकेऐनमौकेपरयूपीटीईटी2018मेंपूछेगएसवालोंकेगलतजवाबकामामलाफिरसतहपरआगयाहै।एकलपीठकेआदेशकेखिलाफदाखिलविशेषअपीलपरकलहाईकोर्टकीडबलबेंचनेफैसलासुरक्षितकरलियाथा।आजअवकाशहोनेकेबादभीहाईकोर्टनेइसमामलेकाफैसलासुनाया।इलाहाबादहाईकोर्टमेंविशेषअपीलदाखिलकरएकलपीठकेउसआदेशकोचुनौतीदीगईहैजिसमेंकोर्टने15प्रश्नोंपरविवादकेबजाएदोपरहीविशेषज्ञरायलेनेकाआदेशदियाथा।हिमांशुकुमारसमेतदर्जनोंअन्यअभ्यर्थियोंकीयाचिकाओंपरसुनवाईन्यायमूर्तिपंकजमित्तलऔरन्यायमूर्तिरोहितरंजनअग्रवालकीखंडपीठमेंहुई।याचीगणकीओरसेवरिष्ठअधिवक्ताअशोकखरेऔरसीमांतसिंहकाकहनाथाकिटीईटी2018मेंपरीक्षानियामकप्राधिकारीकार्यालयकीओरसेजारीउत्तरकुंजीसेमिलानकरनेपर15सवालोंकेउत्तरअभ्यर्थियोंनेगलतपाए।इसेहाईकोर्टमेंचुनौतीदीगई।

एकलपीठनेबुकलेटसीरीज'ए'केसंस्कृतविषयकेप्रश्नसंख्या66औरउर्दूविषयकेप्रश्नसंख्या65कोहीइलाहाबादविश्वविद्यालयकेविशेषज्ञोंकीरायलेनेकाआदेशदिया,बाकी13विवादितप्रश्नोंपरकोर्टनेपरीक्षानियामकप्राधिकारीकेविशेषज्ञोंकीरायमानली।जबकिशीर्षकोर्टकाआदेशहैकिजिनप्रश्नोंपरविवादहोउनकोविशेषज्ञरायकेलिएभेजाजाए।खंडपीठनेविशेषअपीलपरदोनोंपक्षोंकीबहससुननेकेबादनिर्णयसुरक्षितकरलियाहै।अबफैसलाशनिवारकोआएगा।

पाठ्यक्रमसेबाहरकेप्रश्नोंपरहुईबहस

अधिवक्तानेबतायाकिदाखिलविशेषअपीलपरहुईबहसमेंपाठ्यक्रमकेबाहरसेपूछेगएप्रश्नोंऔरजिनप्रश्नोंकेसभीउत्तरविकल्पगलतथेउनकामुद्दाभीप्रमुखतासेउठायागया।इनप्रश्नोंकेविवादकोपरीक्षानियामकप्राधिकारीकेविशेषज्ञोंनेनहींमानाथा।