Uttarakhand lockdown: उत्तराखंड सरकार ने किसानों को दी बड़ी राहत, बैठक कर लिए ये फैसले

जांच

देहरादून,राज्यब्यूरो।लॉकडाउनकोदेखतेहुएसरकारनेप्रदेशके8.81लाखकिसानोंकोबड़ीराहतप्रदानकीहै।इसकड़ीमेंकिसानोंकोमिलनेवालेबीजपरसब्सिडी50सेबढ़ाकर75फीसदकरदीगईहै।गैरप्रमाणितपारंपरिकबीजोंकोभीइसश्रेणीमेंशामिलकरलिएजानेसेइनपरभीसब्सिडीमिलसकेगी।इसकेअलावातराईबीजविकासनिगम(टीडीसी)द्वाराबीजकीकीमतोंमेंकीगईबढ़ोतरीवापसलेलीगईहै।अबकिसानोंकोपिछलेवर्षकीदरपरहीबीजउपलब्धहोसकेगा।

लॉकडाउनकेकारणकिसानोंकेसामनेआरहीफसलकटाई,बुआई,भंडारण,खाद-बीजवउर्वरकोंकेसाथहीश्रमिकोंकीउपलब्धतासेसंबंधितदिक्कतोंकेसमाधानकेलिएकेंद्रसरकारमुस्तैदीसेजुटीहै।किसानोंकोहोनेवालेनुकसानकोदेखतेहुएउन्हेंराहतदेनेकेप्रयासकिएजारहेहैं।प्रदेशसरकारनेभीअपनेकिसानोंकोकृषि-बागवानीसेसंबंधितकार्योंमेंछूटकेसाथहीकईरियायतेंदीहैं।किसानोंकोऔरराहतदेनेकेमकसदसेबुधवारकोकृषिमंत्रीसुबोधउनियालकीअध्यक्षतामेंहुईबैठकमेंकईअहमनिर्णयलिएगए।

कृषिमंत्रीउनियालकेअनुसारबीजपरसब्सिडी25फीसदबढ़ानेकानिश्चयकियागयाहै।इससंबंधमेंमुख्यमंत्रीनेभीसहमतिदेदीहै।अबबीजपरसब्सिडी50कीबजाए75फीसदमिलेगी।उन्होंनेबतायाकिबैठकमेंपर्वतीयक्षेत्रोंमेंकिसानोंद्वाराउपयोगमेंलाएजारहेपरंपरागतबीजोंकेसंबंधमेंभीचर्चाहुई।यहबीजप्रमाणितनहींहै,लेकिनट्रुथफूलहै।राज्यसरकारकीओरसेपरंपरागतबीजोंकोप्रमाणितबीजमानलिएजानेकीमांगकोकेंद्रसरकारनेस्वीकारकरलियाहै।अबपहाड़केकिसानोंकोपरंपरागतबीजोंपरभीसब्सिडीमिलेगी।साथहीवेआसानीसेइनकाप्रयोगकरसकेंगे,जिससेउन्हेंलाभहोगा।

कृषिमंत्रीकेअनुसारबैठकमेंयहभीनिर्णयलियागयाकिटीडीसीकीओरसेइसवर्षबीजोंकेदाममेंजोबढ़ोतरीकीगईथी,उसेवापसलियाजाएगा।इससेकिसानोंकोप्रतिकुंतलहोनेवालीबीजखरीदमें400से4000रुपयेतककीबचतहोगी।

एसएचजीचलाएंगेकिसानबाजार

किसानोंकोफसलोंऔरनकदीफसलोंकेलिएबाजारमुहैयाकरानेकोअपणुबाजार(अपनाबाजार)कोकिसानबाजारमेंतब्दीलकरइन्हेंस्वयंसहायतासमूहों(एसएचजी)केजरियेसंचालितकरनेकानिर्णयलियागयाहै।इसकेलिएएसएचजीकोबीजप्रमाणीकरणबोर्डसेदो-दोलाखकीराशिमुहैयाकराईजाएगी।

कृषिमंत्रीउनियालकेअनुसारबैठकमेंकिसानबाजारोंकीसंपूर्णगतिविधियोंकोक्रियान्वितकरनेकेलिएअपरसचिवरामविलासयादवकीअध्यक्षतामेंसमितिगठितकीगईहै।इसमेंजैविकबोर्ड,मंडीसमिति,कृषिऔरउद्यानकेअधिकारियोंकोबतौरसदस्यशामिलकियागयाहै।उन्होंनेबतायाकिकिसानबाजारोंकोविकसितकरनेमेंयदिऔरधनकीजरूरतपड़ेगीतोमंडीपरिषदइसेपूराकरेगी।

लॉकडाउनमेंपासकेरूपमेंकिसानबहीवकेसीसीमान्य

लॉकडाउनअवधिमेंकिसानोंकोकृषिकार्योंकेलिएआने-जानेऔरकृषिउत्पादोंकेपरिवहनमेंआरहीदिक्कतोंकोदेखतेहुएसरकारइसकासरलीकरणकरनेजारहीहै।कृषिमंत्रीसुबोधउनियालकीअध्यक्षतामेंबुधवारकोहुईबैठकमेंतयकियागयाकिलॉकडाउनकेदौरानकिसानोंकेजरूरीकार्योंकोचलायमानरखनेकेमद्देनजरकिसानबही,किसानक्रेडिटकार्ड(केसीसी),उद्यानकार्डजैसेदस्तावेजोंकोपासकेरूपमेंमान्यतादीजाएगी।

कृषिमंत्रीउनियालकेअनुसारइससंबंधमेंसभीजिलाधिकारियोंकोनिर्देशदिएजारहेहैं।किसानोंकीसमस्याओंकोप्राथमिकताकेआधारपरनिस्तारितकरनेकेलिएजिलाधिकारियोंऔरकृषिवउद्यानविभागोंकेअधिकारियोंकोसमन्वयकेसाथकामकरनेकोकहागयाहै।सभीजिलोंमेंफार्मर्समशीनरीबैंकोंकीसंख्याबढ़ाने,किसानोंकेउत्पादोंपरमंडीशुल्कनलेनेसंबंधीनिर्देशभीदिएगएहैं।

यहभीपढ़ें: Uttarakhandlockdown:लॉकडाउनसेपहाड़मेंसब्जीउत्पादनकेप्रतिबढ़ालोगोंकारुझान

यमुनाकॉलोनीस्थितकृषिमंत्रीकेकैंपकार्यालयमेंहुईबैठकमेंअपरमुख्यसचिवओमप्रकाश,सचिवकृषिआर.मीनाक्षीसुंदरम,अपरसचिवरामविलासयादव,कृषिनिदेशकगौरीशंकर,मंडीसचिवदेहरादूनविजयथपलियालसमेतकृषि,उद्यान,जैविकबोर्ड,बीजप्रमाणीकरण,जड़ी-बूटीसमेतअन्यविभागोंकेअधिकारीमौजूदथे।

यहभीपढ़ें: उत्तराखंडमेंगेहूंकीखरीदको200केंद्र,किसानोंकेखातोंमेंसीधेजाएगीरकम