‘विजेता’ किसान घर लौटने से पहले प्रदर्शन स्थलों पर गीत गा रहे हैं और मिठाइयां बांट रहे हैं

जांच

नयीदिल्ली,नौदिसंबर(भाषा)तीनकृषिकानूनवापसलिएजानेकेबादकेंद्रसरकारद्वाराकिसानोंकीअन्यमांगेंपूरीकरलिएजानेसेदिल्लीकीसीमाओंपरप्रदर्शनकररहेकिसानविजेताकीतरहजश्नमनारहेहैं,मिठाईयांबांटरहेहैंतथागीतगारहेहैं।एकवर्षसेअधिकसमयसेदिल्लीकीसीमाओंपरचलरहाकिसानप्रदर्शनजहांदेश-दुनियामेंलगातारसुर्खियोंमेंरहा,वहींइसदौरानकईविवादभीपैदाहुए।संयुक्तकिसानमोर्चाद्वाराप्रदर्शनसमाप्तकरनेकीघोषणाकरनेकेबादकुछकिसानघरलौटगएहैं,वहींकुछकिसान11दिसंबरकाविजयमार्चकेबादघरलौटेंगे।प्रदर्शनकेदौरानउन्हेंदिल्लीकीकड़ाकेकीसर्दी,भीषणगर्मी,पुलिसकेसाथसंघर्षजैसेकठिनाईयोंकासामनाकरनापड़ातथाआमलोगोंनेभीआंदोलनसेरोजानाआने-जानेमेंहोनेवालीदिक्कतोंकीशिकायतकी।सिंघूबॉर्डरपरकिसानहरिंदरसिंहनेकहा,‘‘आजरातहमनहींसोएंगे।हमजीतकरघरलौटरहेहैं।’’संयुक्तकिसानमोर्चाकेनेताओंनेबृहस्पतिवारकोजैसेहीघोषणाकीकिआंदोलनसमाप्तहोगाऔर11दिसंबरकोविजयीमार्चकरनेकेबादघरलौटेंगेतभीसेप्रदर्शनस्थलोंपरजश्नकामाहौलशुरूहोगया।किसानोंनेअपनीजीतपरएक-दूसरेकोबधाईदी,संगठनकेझंडेलहराएऔरअपनेट्रैक्टरोंपरदेशभक्तिकेगानेबजाए।आंदोलनसमाप्तहोतेहीसिंघूबॉर्डरपरकिसानोंनेअपनेटेंटउखाड़नेशुरूकरदिएऔरअपनासामानइकट्ठाकरनेलगे।संयुक्तकिसानमोर्चाद्वारा11दिसंबरसेहटनेकीअपीलकरनेकेबावजूदगाजीपुरबॉर्डरसेकुछकिसानवापसजानेलगेहैं।पिछलेएकवर्षसेसिंघूबॉर्डरपरधरनादेरहेएककिसाननेकहा,‘‘हमयहां15केसमूहमेंआतेथे।आजहमअपनेपंखे,कूलरऔरएयरकंडीशनर्सजैसेसामानपैककररहेहैं।हम11दिसंबरकोविजयीमार्चकेबादयहांसेलौटेंगे।’’पंजाबकेरहनेवाले60वर्षीयप्रदर्शनकारीनीरवीरसिंहनेकहा,‘‘हरचीजकोइकट्ठाकरनेमेंदसलोगोंकोलगभगदोघंटेकावक्तलगा।हम19लोगयहांआएथेऔरअबछहबचेहैंजबकिअन्यवापसलौटगए।हमदसदिनोंकेलिएयहांआतेथेऔरफिरलौटजातेथे।हमजीतकाजश्नमनाएंगेऔरफिरअपनेघरोंकोलौटेंगे।’’गाजीपुरमेंबृहस्पतिवारकीरातसेरोटीबनानेऔरदूधउबालनेवालीमशीनेंहटाईजाएंगीजबकिकईप्रदर्शनकारीआजसेहीलौटनेलगेहैं।उन्होंनेकहाकिगाजीपुरस्थलसेअस्थायीढांचोंऔरआवासकोहटानेमेंकुछऔरदिनलगेंगे।तीनोंकृषिकानूनोंकेविरोधमेंप्रदर्शनकेदौरानगणतंत्रदिवसपरहिंसासेलेकरलखीमपुरखीरीकीघटनातककईविवादास्पदघटनाएंहुईं।साथही‘टूलकिट’और‘आंदोलनजीवी’जैसेशब्दोंकोलेकरभीखूबवाद-विवादहुए।इतनेविवादोंकेबावजूदकिसानधरनास्थलसेनहींहटेऔरउन्होंनेसरकारकोकृषिकानूनोंकोवापसलेनेकेलिएबाध्यकिया।दिल्लीकीसीमाओंपरकिसानोंकेप्रदर्शनशुरूकरनेकेकुछहीहफ्तेबादगणतंत्रदिवसकेअवसरपरकिसानोंकीट्रैक्टररैलीकेदौरानकिसानोंऔरपुलिसमेंसंघर्षहुआ।कईप्रदर्शनकारीलालकिलेपरपहुंचगएऔरकिलाकेअंदरघुसगए।कुछनेइसकेगुंबदपरधार्मिकझंडाफहरादिया।इसदौरानसुरक्षाकर्मियोंसहितसैकड़ोंलोगजख्मीहोगएऔरट्रैक्टरपलटनेसेएकप्रदर्शनकारीकीमौतहोगई।गणतंत्रदिवसकीहिंसाकेतुरंतबादजलवायुकार्यकर्ताग्रेटाथनबर्गऔरपॉपस्टाररिहानानेकिसानोंकेप्रतिसमर्थनजताया।इसपरभारतनेकड़ीप्रतिक्रियाजताई।थनबर्गनेएक‘‘टूलकिट’’भीसाझाकी,जिसकोलेकरबड़ाविवादखड़ाहोगयाऔरदिल्लीपुलिसनेकईलोगोंकेखिलाफप्राथमिकीदर्जकी।सोशलमीडियापरकथिततौरपर‘‘टूलकिट’’कोसाझाकरनेकेलिएजलवायुकार्यकर्तादिशारविकोगिरफ्तारकियागया।बादमेंउन्हेंजमानतदेदीगई।प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेफरवरीमेंसंसदमेंप्रदर्शनकारियोंपरप्रहारकरतेहुएउन्हें‘‘आंदोलनजीवी’’बताया।इसशब्दकेलिएकांग्रेसनेमोदीपरपलटवारकियाथा।सिंघूबॉर्डरप्रदर्शनस्थलपरमार्चमेंगोलियांचलीथींलेकिनइसमेंकोईजख्मीनहींहुआ।उत्तरप्रदेशकेलखीमपुरखीरीजिलेमेंतीनअक्टूबरकोकिसानोंकेप्रदर्शनस्थलपरचारलोगोंकीमौतसेविवादखड़ाहोगया।एकएसयूवीसेकथिततौरपरकुचलनेकेकारणइनलोगोंकीमौतहोगई।बादमेंभीड़नेचारलोगोंकीपीट-पीटकरहत्याकरदीथी।इसघटनाकेसिलसिलेमेंगृहराज्यमंत्रीअजयमिश्राकेबेटेआशीषमिश्रासहितएकदर्जनसेअधिकलोगगिरफ्तारहोचुकेहैं।नवीनतमघटनासिंघूबॉर्डरपर15अक्टूबरकोहुईजिसमेंएकदलितमजदूरलखबीरसिंहकीबर्बरतरीकेसेहत्याकरदीगई।इससिलसिलेमेंचारनिहंगसिखोंकोगिरफ्तारकियागयाथा।पंजाब,हरियाणाऔरउत्तरप्रदेशसहितदेशकेविभिन्नहिस्सेकेकिसानपिछलेवर्ष26नवंबरसेदिल्लीकीसीमाओं--सिंघू,टीकरीऔरगाजीपुरमेंप्रदर्शनकररहेथे।