West Champaran: वीटीआर से सटे गांवों के किसानों की जान के दुश्मन बने वन्यजीव

जांच

बगहा/प.चं.{तुफानीचौधरी}।वाल्मीकिटाइगररिजर्व(वीटीआर)सेसटेइलाकोंमेंजिनकिसानोंकेखेतहैंउनकेलिएयहांखेतीकरनाजानपरबनआईहै।आयदिनकिसानह‍िंसकवन्यजीवोंकाशिकारहोरहेहैं।बीतेपांचमाहमेंकरीबआधादर्जनकिसानजंगलीजानवरोंकाशिकारहुएहैं,जबकिइससेअधिकगंभीररूपसेजख्मीहोगए।इससेआसपासकेइलाकोंमेंखेतीप्रभावितहोरहीहै।डरकेकारणआधादर्जनसेअधिकप्रखंडोंके40से50किसानखेतीछोड़चुकेहैं।वीटीआरसेसटेकरीबएकहजारएकड़सेभीज्यादाभूमिपरकिसानधान,गेहूं,सब्जीऔरगन्नेकीखेतीकरतेहैं।

इनहमलोंसेसहमेकिसान

14मईकोचिउटाहांवनक्षेत्रमेंबाघकेहमलेमेंएककिशोरकीमौतहोगई।हरनाटांड़वनक्षेत्रसेसटेकलाबरवागांवमेंभीबाघकेहमलेमेंएककिशोरबुरीतरहजख्मीहोगया,जिसकाइलाजपहलेगोरखपुरअबहरनाटांड़मेंचलरहाहै।20मईकोयहींखेतदेखनेगईएकमहिलाकोबाघनेमारडाला।हमलेकेदौरानमृतकाकीपुत्रीनेपेड़परचढ़करअपनीजानबचाई।23मईकोगोबद्र्धनामेंभालूकेहमलेमेंदोकिसानगंभीररूपसेजख्मीहोगए।27मार्चकोहरनाटांडकेजंगलसेनिकलेभैंसेनेएककिसानपरहमलाकरदिया,जिससेउसकीमृत्युहोगई।उसीमाहउक्तभैंसेनेमदनपुरवनक्षेत्रकेगोबरहियागांवमेंभीएककिसानसहितदोमजदूरोंपरहमलाकरघायलकरदियाथा।

नीलगाय,सुअरऔरखरगोशभीकररहेपरेशान

मांसाहारहीनहीं,शाकाहारजानवरभीकिसानोंकीपरेशानीकासबबहैं।भलेहीयेकमहमलावरहैं,लेकिनतैयारफसलोंकोचटकरजातेहैं।भालूऔरसुअरगन्नेकीफसलकोबर्बादकरदेतेहैं,जबकिखरगोश,नीलगायऔरहिरणसब्जीसमेतधानवगेहूंकीफसलनष्टकरदेतेहैं।इनकीशिकारकेलिएङ्क्षहसकजानवरजंगलसेनिकलकिसानोंकोअपनाशिकारबनारहेहैं।हरनाटांड़केकिसानमनोजङ्क्षसह,नरेशचौधरीवबुधनचौधरीकहतेहैंरातमेंजानवरपरेशानकरतेहैंतोदिनमेंबंदरोंकाभयबनारहताहै।जानवरोंकेभयसेकिसानोंनेफसलोंकीरखवालीतकबंदकरदीहै।बीतेदिनोंरिहायशीइलाकेसेसटेसरेहमेंह‍िंसकजानवरोंकेदिखनेसेकिसानोंकीहिम्मतटूटचुकीहै।

-वीटीआरकीसीमाखुलीहुईहै।ऐसेमेंयदिकहींवन्यजीवदिखेंतोउसओरनजाएं।तत्कालवनविभागकोसूचितकरें।वनकर्मियोंकोनियमितपेट्रोल‍िंगकेनिर्देशदिएगएहैं।-डा.नेशामणि,मुख्यवनसंरक्षक,वीटीआर